लॉकडाउन ने रफ्तार तो रोकी मगर मौतों में 28 फीसदी कमी – मोदी

पटना (TBN डेस्क) | प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि बिहार में जब से बेहतरीन सड़के बनीं हैं, यहां वाहनों की बिक्री में लगभग 700 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. वे मंगलवार को पूर्वी चम्पारण के सत्तरघाट में गंडक पर बने पुल तथा लखीसराय के बाईपास में रेलवे ऊपरी पुल के उद्घाटन के साथ सासाराम बाईपास के शिलान्यास कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे. यह कार्यक्रम ‘संवाद’ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुआ.

मोदी ने कहा कि कोविड-19 महामारी लॉकडाउन के दौरान पिछले दो महीनों में पटना में अन्य कारणों से होने वाली मौतों में 28 प्रतिशत की कमी आई है. उन्होंने बताया कि सामान्य तौर पर राज्य में हर साल करीब 5500 लोगों की मौत सड़क दुर्घटनाओं में ही हो जाती है.

शव दाह संस्कार के बारे में बताते हुते उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अप्रैल-मई (2019) महीने की तुलना में अप्रैल-मई (2020) में लॉकडाउन के दौरान पटना के गुलबीघाट घाट पर 38 प्रतिशत, खाजेकलां घाट पर 25 और बांसघाट पर 10 प्रतिशत कम दाह संस्कार किए गए. उन्होंने बताया कि दुर्घटना, बीमारी तथा अन्य कारणों से होने वाली मौतों में कुल 28 प्रतिशत की कमी आई.

राज्य में बनी अच्छी सड़कों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि 2008-09 में बिहार में जहां 2.20 लाख वाहनों के निबंधन हुए थे वहीं 2019-20 में 13.60 लाख वाहनों के निबंधन किए गए. 1990 से 2005 तक बिहार की सड़कों व पुल-पुलियों पर जहां मात्र 6071.57 करोड़ खर्च हुए थे वहीं 2005 से लेकर अब तक एक लाख 40 हजार करोड़ खर्च किए गए हैं. उनके 15 साल के कार्यकाल में 200 करोड़ का अलकतरा घोटाला हुआ जिसमें तत्कालीन पथ निर्माण मंत्री सजायफ्ता होकर अभी भी जेल में हैं.

बिहार में गंगा नदी पर बने पुलों के बारे में उन्होंने कहा कि आजादी से लेकर 2005 के पहले तक यहां मात्र 3 पुलों का निर्माण हुआ था जबकि 2005 के बाद अभी तक गंगा पर 14 पुल बनाए जा चुके हैं. उन्होंने बताया कि पिछले 15 वर्षों में कोसी पर 6, गंडक पर 5 और सोन पर 3 पुलों के निर्माण की स्वीकृति भी मिली हैं. इन सभी 28 पुलों में से आधे से ज्यादा का निर्माण कार्य शुरू हो गया है तथा बाकी में निर्माण कार्य विभिन्न चरणों में पहुँच चुका है

Advertisements