‘चिंता नहीं करें, टीकों को हराने में COVID-19 अभी विकसित नहीं’ – वैज्ञानिक

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| COVID-19 के एक नए और अधिक गंभीर स्ट्रेन / रूप के कारण दुनिया भर में चिंताएं पैदा हो रही हैं. वैज्ञानिकों ने आश्वासन दिया है कि कोरोना वायरस वर्तमान में बन रहे टीकों को तुरंत हरा नहीं पाएंगे. उन्हें इन टीकों को हराने के लिए पर्याप्त रूप से विकसित होने में वर्षों लगेंगे.

वैज्ञानिकों ने कहा है कि किसी को भी इस वायरस के बारे में चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि वर्तमान में जो टीके बन रहे हैं या जो एंटीबॉडी डिवेलप हो रही है, उनको यह वायरस अचानक से हरा नहीं पाएगा. फिर भी अगर यह कभी होने वाला होगा, तो भी इसमें कई साल लगेंगे.

आपको बता दें कि यूनाइटेड किंगडम और दक्षिण अफ्रीका के कई देशों में चल रहे टीकाकरण अभियान के बीच COVID-19 के एक नए रूप का हाल ही में पता लगा है और वैज्ञानिकों का यह कथन इसके बाद आया है.

ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन

यूनाइटेड किंगडम ने पिछले सप्ताह COVID-19 वायरस के एक नए संस्करण के बारे में बताया. वहां के विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले सभी वायरसों की तुलना में यह तेजी से फैलता है. उसके कुछ दिनों के बाद दक्षिण अफ्रीका ने भी अपने देश में इसी तरह के एक वायरस की सूचना दी, जिसमें चेतावनी दी गई कि इसमें उच्च वायरल लोड है और युवा वयस्कों के लिए समान रूप से घातक है. दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस के इस स्ट्रेन को ‘501.V2 वेरिएंट’ नाम दिया गया है और देश के स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार देश में चल रही दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार हो सकता है.

आपने इस खबर को पढ़ा क्याब्रिटेन में मिले कोरोना के नए रूप से विश्व में खौफ, भारत में आपात बैठक

दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री ज़्वेलि माखिसे (Zweli Mkhize) ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि वायरस का नया स्ट्रेन पहली लहर में पहचाने गए पिछले वेरिएंट की तुलना में अधिक मौतों का कारण बन रहा है और वायरस की गंभीरता भी हवा में बनी हुई है. इस बीच, यूके में वायरोलॉजिस्टों ने कहा है कि यह स्पष्ट नहीं है कि COVID-19 वायरस का नया स्ट्रेन टीकों और उपचार को कैसे प्रभावित करता है या क्या यह उच्च मृत्यु दर का कारण बनता है.

इधर, यूरोपीय संघ (ईयू) के विशेषज्ञों का मानना ​​है कि नॉवेल कोरोनोवायरस के खिलाफ मौजूदा कोविड-19 वैक्सीन नए स्ट्रेन के खिलाफ भी प्रभावी है जो उत्तरी आयरलैंड को छोड़कर पूरे ब्रिटेन में तेजी से फैल रहा है. जर्मन स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पैन (Jens Spahn) ने कहा है कि अधिकारियों ने अभी तक इस वेरिएंट के बारे में जो बताया है, उसके आधार पर नए स्ट्रेन का “टीकों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता” क्योंकि वे “सिर्फ प्रभावी” (“just as effective”) रहते हैं.

error: Content is protected !!