गया : विष्णुपद मंदिर में किया गया शुद्धिकरण अनुष्ठान

गया (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार की नई सरकार के एक गैर हिंदू मंत्री के गर्भगृह में प्रवेश को लेकर उठे विवाद के बीच भाजपा की गया जिला इकाई ने यहां विष्णुपद मंदिर का शुद्धिकरण (Purification of Vishnupad Temple) किया.

भाजपा जिला इकाई के अध्यक्ष धनराज शर्मा ने गुरुवार को कहा, “हमने फाल्गु नदी से पानी लाकर मंदिर परिसर की ‘शुद्धिकरण’ पूजा की और पूजा-अर्चना की.”

बुधवार को पांडा समाज के सदस्यों ने पूजा की और फाल्गु नदी के पानी से मंदिर के गर्भगृह की सफाई की.

बता दें, बिहार के संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री मोहम्मद इसराइल मंसूरी (Mohamed Israel Mansoori) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) के साथ गया की यात्रा के दौरान विष्णुपद मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश करने के बाद विवाद शुरू हो गया.

शर्मा ने कहा, “गैर-हिंदू मंत्री का प्रवेश जानबूझकर हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के लिए किया गया था.” शर्मा ने कहा कि मंत्री मंदिर की दीवार के बाहर लगे “गैर-हिंदुओं को प्रवेश की अनुमति नहीं” के निर्देशों के बावजूद अंदर गए थे.

मुजफ्फरपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में सोमवार को एक सामाजिक कार्यकर्ता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मंसूरी और चार अन्य के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई थी.

यह भी पढ़ें| विष्णुपद मंदिर में नीतीश के साथ दिखे मुस्लिम मंत्री, मचा बवाल

दानराज शर्मा ने सीएम नीतीश कुमार पर हिंदू आस्था का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हिंदू समुदाय उन्हें कभी माफ नहीं करेगा.

“नीतीश कुमार जानबूझकर मोहम्मद इसराइल मंसूरी को मंदिर के अंदर ले गए. वह इतने लंबे समय तक ‘गर्भगृह’ (गर्भगृह) के अंदर थे. यह सब, परिसर के बाहर लिखे जाने के बावजूद कि गैर-हिंदुओं को अंदर जाने की अनुमति नहीं है, यह हिंदुओं का पूर्ण अपमान है. भगवान विष्णु उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे. उनका राजनीतिक अंत निकट है. इस सब के कारण, हमने आज शुद्धिकरण पूजा की, “शर्मा ने मीडिया को बताया.

बिहार बीजेपी अध्यक्ष ने नीतीश पर साधा निशान

इससे पहले बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल (Bihar BJP President Sanjay Jaiswal) ने जानबूझकर हिंदुओं का मजाक उड़ाने के लिए मुख्यमंत्री पर निशाना साधा था और माफी की मांग की थी.

जायसवाल ने कहा, “सीएम नीतीश कुमार जानते हैं कि ‘गर्भगृह’ के अंदर गैर-हिंदुओं के प्रवेश की अनुमति नहीं है. उन्होंने जानबूझकर हिंदुओं का मजाक उड़ाने के लिए ऐसा किया. यह एक साजिश का हिस्सा है. उन्हें हिंदुओं से माफी मांगनी चाहिए.”