माघी पूर्णिमा के अवसर पर बाबा उमानाथ महोत्सव में उमड़े लाखों लोग

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| बुधवार को माघी पूर्णिमा (Maghi Purnima) को लेकर गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा है. बाढ़ अनुमंडल स्थित बाबा उमानाथ मंदिर (Baba Umanath Temple located in Barh subdivision) में भी लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे और यहां बहती उत्तरायण गंगा (Uttarayan Ganga) में डुबकी लगाई.

लाखों की संख्या में महिलाएं और पुरुष बाबा उमानाथ मंदिर में भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना की. माघी पूर्णिमा के दिन बाबा उमानाथ मंदिर के अलावा बनारसी घाट तथा पोस्ट ऑफिस घाट पर भी श्रद्धालुओं की अपार भीड़ लगी रही.

21वीं सदी में भी झाड़-फूंक

माघी पूर्णिमा के अवसर पर बाढ़ अनुमंडल स्थित बाबा उमानाथ मंदिर में बड़ा मेला लगता है. इस मेले की खास बात यह है कि आज विश्व 21वीं सदी में भी यहां झाड़-फूंक किया जाता है. मेला स्थल पर जगह-जगह लोग झाड़-फूंक करते दिख जाएंगे.

सुदूर गांवों से आए महिलाएं एवं पुरुष झाड़-फूंक करती नाचती महिलाओं के आगे हाथ जोड़कर, हाथ पसार कर अपनी-अपनी मांगों के लिए विनती करते हैं.

यहां रात के तीन बजे से ही हर-हर गंगा के जयकारा के बीच श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाना शुरू कर दिया. सभी ने माघी पूर्णिमा के मौके पर गंगा स्नान करके शारीरिक, मानसिक सुख और मोक्ष की कामना की. गंगा स्नान के बाद पौराणिक समय से चले आ रहे दान और पूजा की परंपरा के तहत श्रद्धालुओं ने बड़े पैमाने पर बाबा उमानाथ मंदिर में पूजा-अर्चना किया.

बाढ़ नगर परिषद के अध्यक्ष राजीव कुमार (Rajeev Kumar, President of Barh Municipal Council) ने ‘दी बिहार नाउ’ से बात करते हुए बताया कि मंदिर में आज के दिन लगभग 5 लाख श्रद्धालु गंगा स्नान व मंदिर में बाबा उमानाथ का दर्शन करने आते हैं. आज के दिन यहां मंदिर परिसर में हजारों शादियाँ भी सम्पन्न की जाती हैं.

राजीव कुमार ने बताया कि नगर परिषद के कर्मचारीगण लोगों की सुविधायों का ख्याल रखने के लिए यहां मुस्तैद हैं. साथ ही नगर विकास पदाधिकारी के साथ थाना थानाध्यक्ष एवं बाढ़ थाना की पुलिस रात से ही अपने अपने ड्यूटी निभा रही है. यहां बाढ़ अनुमंडल के एसडीएम सुमित कुमार एवं बाढ़ अनुमंडल के एएसपी अमरेंद्र प्रताप सिंह भी पूरी मुस्तैदी के साथ प्रशासनिक नजर रख रहे हैं.