साम्प्रदायिक सौहार्द व भाईचारे के बीच नम आंखों से मां दुर्गा को दी गई विदाई

कोइलवर/भोजपुर (TBN – आमोद कुमार की रिपोर्ट)| नवरात्र में अपने घर आई मां आदिशक्ति दुर्गा को शुक्रवार को नम आंखों से विदाई दी गई. भोजपुर के कोईलवर में दूर्गा मां का पूजन अनूठा और अनुकरणीय होता है.

भोजपुर में वर्षों से हिन्दू और मुसलमान दोनों पूरे उत्साह से मां दुर्गा के पूजन का आयोजन करते हैं. यहां साम्प्रदायिक सौहार्द की गंगा ऐसी बहती है कि नौ दिन तक सभी भक्ति रस में पगे से मां की अराधना में लीन रहते हैं.

शुक्रवार को जब मां की विदाई हुई तो सबकी आँखें नम हो गई. अपनी समस्त बुराईयों से मुक्ति पाने की प्रार्थना और संकल्प के साथ मां से सुख, समृद्धि और एकता का आशीर्वाद मांगते हुये उन्हे सोन तट पर विदाई दे दी गई.

यह भी पढ़ें| दीपावली एवं छठ के मद्देनजर सीएम ने दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

आज जब देश में साम्प्रदायिक नफरत और भेदभाव की आंधी चल रही है, वहीं कोईलवर की जनता ने संदेश साफ दिया है कि हमें कोई बांट नहीं सकता. हम सबकी सांस्कृतिक विरासत एक है और वह हम साझे में ही रखेंगे. वस्तुतः समाज में आज इसी समझ की आवश्यकता है.