धर्म-आध्यात्मफीचर

सफलता और धन के लिए जप करने योग्य 8 शक्तिशाली श्रीराम मंत्र

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| लगभग 500 सौ साल के बाद एक बार फिर अयोध्या में भगवान श्रीराम अपने मंदिर में वापस विराज गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला के चल रहे प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रतीकात्मक रूप से भगवान की आंखें खोलकर अनुष्ठान के अंतिम चरण का समापन किया. इसके साथ ही 16 जनवरी से शुरू हुए सप्ताह भर चलने वाले रामलला के अभिषेक समारोह का समापन हो गया.

भगवान राम के भक्त में आत्म-मूल्य और आत्मविश्वास की भावना अधिक होती है. उनकी मानसिक दृढ़ता किसी भी चुनौतीपूर्ण परिस्थिति पर काबू पाने के लिए पर्याप्त है, और उनके पास अविश्वसनीय रूप से मजबूत इच्छाशक्ति है. अच्छी तरंगें भेजने और आत्मा को जागृत करने के लिए केवल राम शब्द का जाप करना आवश्यक है. शरीर की इडा पिंगला नाड़ी “श्री राम” द्वारा संतुलित की जाती है, जिससे स्वस्थ रक्त परिसंचरण और समग्र कल्याण सुनिश्चित होता है. मानव शरीर के सात चक्रों में से दो चक्रों – ‘रा’ और ‘ओम’ के संयोजन के रूप में, “राम” शब्द अपने आप में महान शक्ति रखता है.

आध्यात्मिक पूर्णता का मार्ग राम की भक्ति और उनके सिद्धांतों का पालन है. भगवान राम के मंत्रों का जाप और उनकी पूजा करने से भी भौतिक आशीर्वाद मिल सकता है. अपने अनुयायियों की भौतिक आवश्यकताओं को पूरा करने के अलावा, भगवान राम प्रत्येक व्यक्ति के लिए अधिक खुशी का मार्ग प्रशस्त करते हैं.

8 शक्तिशाली श्री राम मंत्र

  1. रामाय रामभद्राय रामचन्द्राय वेधसे, रघुनाथाय नाथाय सीताय पतये नमः ॥

लाभ – इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को मानसिक शांति मिलती है क्योंकि भगवान राम हमेशा उनके साथ रहते हैं और उन्हें जीवन में सही मार्ग दिखाते हैं.

  1. ॐ क्लीं नमो भगवते रामचन्द्राय सकलजन वश्यं काराय स्वाहा: ॥

लाभ – उनके मंत्र का जाप करने से व्यक्ति श्री राम की महिमा का अनुभव कर सकता है और उनके गुणों से रूबरू हो सकता है.

  1. ॥ॐ दशरथये विद्महे सीतावल्लभय धीमहि, तन्नो राम प्रचोदयात्॥

लाभ – पवित्र राम गायत्री मंत्र भगवान राम की आराध्य पत्नी माता सीता को समर्पित है. इस सीते-राम मंत्र का जाप करने से मस्तिष्क संतुलित हो जाता है.

  1. ॥ श्री राम जय राम कुंडा राम ॥

लाभ – राम और कोदंड की जोड़ी अपराजेयता और अंतिम विजय का प्रतिनिधित्व करती है. इस मंत्र का जाप करने से सद्भाव, सफलता और सभी चिंताओं का निवारण होता है.

  1. ॥ हीं राम हीं राम ॥

लाभ – यह एक शक्तिशाली मंत्र है जो अभ्यासकर्ता को आध्यात्मिक जागरूकता जगाने में सहायता करता है.

  1. ॥ रामाय नमः॥

लाभ – यह मंत्र भक्त को अधिक केंद्रित और स्पष्ट बनने में मदद करने के लिए है. ध्यान और अभिव्यक्ति के अलावा, यह पवित्रता नैतिक शुद्धता, या मन की अशुद्धियों को साफ़ करने को भी संदर्भित करती है.

  1. ॥ श्री राम शरणम ममः ॥

लाभ – इस मंत्र का नियमित जाप भक्त को अत्यधिक शारीरिक और मानसिक शक्ति प्रदान करेगा. यह शरीर को आनंद से भर देता है और शारीरिक उपचार को बढ़ावा देता है.

  1. ॥ श्री रामचन्द्राय नमः ॥

लाभ – यह शक्तिशाली मंत्र चंद्र देव और श्री राम दोनों का सम्मान करता है. उपचारात्मक ध्वनि कंपन विभिन्न मानसिक पैटर्न को शांतिपूर्वक स्वयं को पुनः व्यवस्थित करने का कारण बनता है.

(डिस्क्लेमर: यह आम जनता की जानकारी पर आधारित है. दी बिहार नाउ इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है. कोई भी उपाय अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से सलाह लें.)