जयप्रभा मेदांता सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का नीतीश ने किया उद्घाटन

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शनिवार को राजधानी पटना के कंकड़बाग (Kankarbagh) स्थित नवनिर्मित जयप्रभा मेदांता सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (Jai Prabha Medanta Superspecialty Hospital) का विधिवत उद्घाटन हो गया. राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar Chief Minister) ने मेदांता के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक डॉ० नरेश त्रेहान (Dr Naresh Trehan) की उपस्थिति में इस अस्पताल का उद्घाटन किया.

जयप्रभा मेदांता सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का मंत्रोच्चार एवं शंख ध्वनि के बीच फीता काटकर तथा नारियल फोड़कर विधिवत उद्घाटन किया गया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के लिए बहुत पहले से ही प्रयास जारी था. उन्होंने कहा कि यह बड़े खुशी की बात है कि आज इसका उद्घाटन हो गया है.

600 बेड की क्षमता वाले इस अस्पताल को पहले फेज में 250 बेड की सुविधा से शुरुआत की गई है. इसे जल्द 600 तक कर देने की उम्मीद है. अस्पताल के एमडी डॉ० नरेश त्रेहान के अनुसार, कोरोना की वजह से अस्पताल को शुरू होने में दो साल लेट हो गए. उन्होंने बताया कि पटना मेदांता में भी वही फ़ैसिलिटी है जैसा गुरुग्राम या लखनऊ में है.

डॉ त्रेहान ने बताया कि फिलहाल अस्पताल में किड्नी ट्रांसप्लांट (Kidney Transplant) शुरू किया जाएगा. फिर लिवर और हार्ट ट्रांसप्लांट (Liver and Heart Transplant) की बारी आएगी.

नीतीश ने अस्पताल के एमआरआई, रेडियेशन रुम, हार्ट कमांड सेंटर, नर्सिंग स्टेशन, आइसोलेशन यूनिट, ऑपरेशन थियेटर, इंटेंसिव केयर यूनिट, कैथ लैब्स सहित विभिन्न विभागों एवं वार्डो को देखा. जयप्रभा मेदांता अस्पताल के सीईओ डॉ पंकज साहनी ने उन्हे अस्पताल के बारे में विस्तृत जानकारी दी.

जेपी की इच्छा पटना में कैंसर का अस्पताल हो

नीतीश ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी (Loknayak Jai Prakash) की इच्छा थी कि पटना में कैंसर का अस्पताल (Cancer Hospital) बने. उन्होंने मेदांता के एमडी डॉ नरेश त्रेहान से कहा कि जल्द से जल्द इस अस्पताल में कैंसर का इलाज भी यहां शुरु कराएं क्योंकि लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी की इच्छा पूरी हो सके.

कोई तैयार नहीं था अस्पताल बनाने को

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2005 में सत्ता में आने के बाद राज्य सरकार ने बिहार में अस्पताल बनाने के लिए कई अस्पताल वालों से बात की, मगर कोई तैयार नहीं हुआ था. फिर मेदांता के डॉ० नरेश त्रेहान पटना में अस्पताल चलाने को तैयार हुये.

यह भी पढ़ें| त्योहारों की भीड़ से निपटने के लिए पटना से नई सुपरफास्ट 3 एसी इकोनॉमी ‘गति शक्ति एक्सप्रेस’

नीतीश कुमार ने कहा कि जयप्रभा अस्पताल खोलने की शुरुआत वर्ष 1979 में की गई थी और इसका शिलान्यास 2006 में किया गया. उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष इस अस्पताल के ओपीडी शुरुआत की गई ताकि मरीज यहां आकर डॉक्टरों से इलाज करा सकें. अब आज से यहां सभी बीमारियों का इलाज शुरु हो गया है. उन्होंने कहा कि अब राज्य की जनता को इस अस्पताल में इलाज की बेहतर सुविधाएं मिलेंगी.

गरीबों के लिए 25 प्रतिशत बेड आरक्षित

इस अस्पताल का मुआयना करने के बाद नीतीश ने पत्रकरों को बताया कि अस्पताल काफी अच्छा है. उन्होंने कहा कि यहां गरीबों के लिए 25 प्रतिशत बेड आरक्षित (25% reserved for poor) है और इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित शुल्क पर उनका इलाज किया जायेगा. साथ ही सरकारी कर्मचारियों का इलाज भी इस अस्पताल में नॉर्मल रेट पर होगा.

आपको बता दें, आज इस अस्पताल के उद्घाटन होने के साथ ही यहां इन पेशेंट-सर्विस (IPD Service) की शुरुआत हो गई, अब मरीज यहां भर्ती होकर अपना इलाज करा सकेंगे.

जयप्रभा मेदांता सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के उद्घाटन के मौके पर उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन, पटना नगर निगम की मेयर सीता साहू मेदांता के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक डॉ० नरेश त्रेहान, बिहार सरकार के उच्च पदाधिकारीगण सहित जयप्रभा मेदांता अस्पताल के अन्य चिकित्सकगण / कर्मी अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे.