पारंपरिक मिथिला नृत्य झझिया और डांडिया के साथ मनाया गया नवरात्र मिलन समारोह

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मिथिला की कला एवं संस्कृति, नारी उत्त्थान तथा महिला सशक्तिकरण को समर्पित संस्था “मैत्रेयी – पहचान मिथिला की” के द्वारा रविवार को विद्यापति भवन, विद्यापति मार्ग, पटना में धूमधाम से नवरात्र मिलन समारोह का आयोजन किया गया.

इस समारोह के आयोजन का मुख्य उद्देश्य अपने ही प्रदेश में खोती पहचान को आगे करना था. इस कार्यक्रम में संस्था मैत्रेयी-पहचान मिथिला की 100 महिलाओं के साथ अन्य मिथिला की अन्य महिलाओं ने भाग लिया.

इस मौके पर मैत्रेयी-पहचान मिथिला की संयोजक पूजा झा ने कहा कि यह मिथिला की महिलाओं का समूह है. हमारा मकसद मिथिला की पहचान को और आगे करना है क्योंकि हरियाणा और दूसरे प्रदेशों के लोग मिथिला भाषा से यूपीएससी क्लियर कर लेते हैं और हमारे प्रदेश में हमारी भाषा अपनी पहचान खो रही है.

उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि मिथिला के लोगों में हुनर नहीं है, बस जररूत है उसे आगे बढाने की. उन्होंने नवरात्र मिलन समारोह को लेकर कहा कि नवरात्र नारी शक्ति का प्रतीक है. ऐसे में मिथिला की महिलाएं भी किसी से कम नहीं है. हम एहसास दिलाने के लिए हम सब आज एक मंच पर अपनी सांस्कृतिक विरासत के साथ उपस्थित हुए हैं.

यह भी पढ़ें| शाहरुख खान के बेटे को NCB ने किया गिरफ्तार, ड्रग रखने और सेवन करने का है आरोप

नवरात्र मिलन समारोह कार्यक्रम की शुरुआत लोकगीत जय जय भैरवी से हुआ. इसके बाद बच्चों ने रंगारंग नृत्य की प्रस्तुति से सबका मन मोह लिया. वहीं, कार्यक्रम में शिरकत कर रहीं, दुसरी महिलाओं ने भी झिझिया और डांडिया की शानदार प्रस्तुति दी.