लॉकडाउन में Digital platform द्वारा बच्चों के बीच राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम

पटना (TBN रिपोर्ट) | कोरोना महामारी लॉकडाउन के कारण बच्चों की पढ़ाई पर काफ़ी असर पड़ रहा है. बच्चे घर में कैद होकर बोर हो रहे हैं तथा पढ़ाई में भी अब उनकी रुचि कम होने लगी है.

लॉकडाउन के कारण बच्चों के बीच अलग-अलग गतिविधियों के ज़रिए उन्हें सीखाने का काम KMS Knowledge Services ने शुरू किया है. इसकी संस्थापक अर्चना शर्मा ने डिजिटल प्लेटफॉर्म (Digital platform) का इस्तेमाल करते हुए बच्चों के बीच राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम शुरू किया.

इन्होंने सबसे पहला कार्यक्रम 13 मई को किया जिसका विषय ‘कोरोना के बाद विश्व में होने वाले बदलाव’ पर एक debate कार्यक्रम हुआ. फिर 28 मई को इन्होंने इसरो (ISRO) के सेवानिवृत्ति वैज्ञानिक प्रो. राजन नारायणस्वामी को अमेरिका से ज़ूम (Zoom) के ज़रिए जोड़ा. इस कार्यक्रम में बिहार, उत्तर प्रदेश और दिल्ली के छह स्कूल के बीस बच्चों ने हिस्सा लिया. साथ ही इसे सीधे फेसबुक पर broadcast कर अन्य बच्चों को भी लाभान्वित करने प्रयास किया गया.

यह कार्यक्रम माएमा इंफ़ोटेक की सहायता से चलाया गया. इस में भाग लेने वाले बच्चों ने अंतरिक्ष मिशन की बारीकियों को समझा. सेशन के आख़िरी भाग में प्रो० राजन बच्चों के सवालों का जवाब दिया. प्रो० राजन ने स्कूलों से यह आग्रह किया की वे विज्ञान से जुड़े प्रयोगों को बढ़ावा दें क्योंकि इससे बच्चों में विज्ञान की समझ विकसित होने में मदद मिलेगी.

KMS Knowledge Service की संस्थापक अर्चना शर्मा, अपनी कम्पनी शुरू करने से पहले कौन बनेगा करोड़पति में कंटेन्ट एडिटर के रूप में 11 वर्षों काम किया हैं. इन्होंने अपनी नौकरी छोड़कर अपनी कम्पनी की शुरुआत की ताकि ये बच्चों के बीच काम कर सके.

अर्चना शर्मा ने बच्चों के लिए Knowledge Window और ज्ञान पल्लव नाम से सामान्य ज्ञान (General Knowledge) की एक सिरीज़ लिखी हैं जो कई स्कूलों में बच्चों को पढ़ाई जाती है.

आगामी 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के मौक़े पर KMS एक और debate का आयोजन करने जा रही है जिसमें भाग लेने के लिए बच्चें KMS Knowlege Services के Facebook page पर डिटेल प्राप्त सकते हैं.