“कभी अलविदा ना कहना” – बप्पी लाहिड़ी ने दुनिया को कहा अलविदा

मुंबई (TBN – The Bihar Now डेस्क)| डिस्को संगीत को भारतीय मुख्यधारा में लोकप्रिय बनाने वाले गायक-संगीतकार बप्पी लहरी (Singer-Composer Bappi Lahiri passed away) का मंगलवार देर रात निधन हो गया. वे 69 वर्ष के थे.

एजेंसी खबरों के मुताबिक बप्पी लहरी ने मुंबई के क्रिटिकेयर अस्पताल (Criticare Hospital, Mumbai) में अपनी अंतिम सांसें ली. उन्हें मंगलवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

अस्पताल के डायरेक्टर डॉ दीपक नामजोशी (Dr. Deepak Namjoshi) ने एजेंसी को बताया कि “बप्पी लहरी को एक महीने के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था और सोमवार को उन्हें छुट्टी दे दी गई थी. लेकिन मंगलवार कोफिर से उनकी तबीयत बिगड़ गई. उनके परिवार ने एक डॉक्टर को उनके घर बुलाया. लेकिन उसके बाद उन्हें फिर अस्पताल लाया गया. उन्हें कई स्वास्थ्य समस्याएं थीं. आधी रात से कुछ समय पहले, लगभग 11.45 बजे ओएसए (Obstructive Sleep Apnea) के कारण उनकी मृत्यु हो गई.”

डिस्को संगीत को लोकप्रिय बनाने के लिए जाने जाने वाले, गायक को बप्पी दा (The singer was known as Bappi Da) के नाम से जाना जाता था. उन्होंने 80 और 90 के दशक में बड़ी सफलता पाई थी. उन्होंने डिस्को डांसर, नमक हलाल, डांस डांस, कमांडो जैसी फिल्मों में अपने काम की बदौलत ‘डिस्को किंग’ (Disco King) की उपाधि अर्जित की थी.

बप्पी लहरी पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण से ग्रस्त हो गये थे और उन्हें एहतियात के तौर पर मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल (Breach Candy Hospital, Mumbai) के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. फिर उनके बारे में यह अफवाह उड़ी कि उन्होंने अपनी आवाज खो दी है.

यह भी पढ़ें| चयनित शिक्षकों को 23 फरवरी से मिलगा नियुक्ति पत्र : शिक्षा मंत्री

इस पर बप्पी लहरी ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में इसका खंडन किया था. उन्होंने लिखा, “कुछ मीडिया आउटलेट मेरे और मेरे स्वास्थ्य के बारे में झूठी खबरें फैला रहे हैं, जिसे सुनकर मेरा दिल टूट जाता है. अपने प्रशंसकों और शुभचिंतकों की कृपा से मैं पूरी तरह स्वस्थ हूं.”

पीएम मोदी ने कहा

पीएम नरेंद्र मोदी ने बप्पी दा के निध पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “श्री बप्पी लाहिड़ी जी का संगीत सर्वांगीण था, विविध भावनाओं को खूबसूरती से व्यक्त करता था. पीढ़ियों के लोग उनके कार्यों से संबंधित हो सकते हैं. उनका जीवंत स्वभाव सभी को याद होगा. उनके निधन से दुखी हूं. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना. शांति.”

बता दें, 2019 में बप्पी दा ने म्यूजिक इंडस्ट्री में अपने 50 साल पूरे किए थे. 27 नवम्बर 1952 को कोलकत्ता में जन्में बप्पी लहरी ने अपने अलग अंदाज की वजह से फिल्म इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाई थी. वे एक ऐसे संगीतकार थे जिन्हे लोग हमेशा सोने के आभूषणों से लदे देखते थे.

उनके चर्चित बंगाली संगीतों में अमर संगीत, आशा ओ भालोबाशा, अमर तुमी, अमर प्रेम, मंदिरा, बदनाम, रक्तलेखा, प्रिया जैसी गाने थे. 1980 और 1990 के दशक में बप्पी दा डिस्को डांसर, वर्दत, शराबी, डांस डांस, नमक हलाल, गैंग लीडर, सैलाब, कमांडो, साहेब जैसे फिल्मी साउंडट्रैक के लिए काफी लोकप्रिय हुए थे.