UPSC परीक्षार्थी परेशान, यह शर्त पूरी करने पर ही दे पाएंगे परीक्षा

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा चार अक्टूबर से शुरू होना है. बता दें कि परीक्षा में शामिल होने के सभी परीक्षार्थी को कोविड-19 टेस्ट करवाना होगा. शर्त ये है कि आपका रिपोर्ट नेगेटिव होना चाहिए. इस बारे में यूपीएससी ने एक अधिसूचना भी जारी की है.

इसके मुताबिक वैसे परीक्षार्थियों जिन्होंने इस परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदन दिया हैं, अगर उनकी रिपोर्ट निगेटिव रहेगी तब ही वह परीक्षा में शामिल होंगे पाएंगे. अब वे तैयारी करें कि कोविट टेस्ट कराएं. इस निर्देश के बाद भारतीय प्रशासनिक सेवा समेत अन्य प्रमुख सेवाओं की परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्र परेशान हो गए हैं.

बता दें इस परीक्षा में बिहार, यूपी, दिल्ली सहित अन्य राज्यों के छात्र बड़ी संख्या में हिस्सा लेते हैं. विद्यार्थियों का कहना है कि परीक्षा में बैठने के लिए कोविड-19 की जांच के लिए सरकार की तरफ से नामित अस्पतालों में जांच कराने को कहा गया है. जाहिर है कि जिस परीक्षार्थी की कोविड-19 की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आ जाएगी, वह परीक्षा से वंचित हो जाएगा.

छात्रों का यह भी कहना है कि अभी अस्पतालों में कोरोना के मरीजों की ही जांच नहीं हो पा रही है. इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों की जांच कैसे हो पाएगी? फिर यदि सरकार से अधिकृत निजी अस्पतालों या पैथालॉजी में जांच करानी पड़ी तो हर विद्यार्थी को इसके लिए 2500 रुपये भुगतान करना पड़ेगा.

परीक्षा की तैयारी करने वाले ज्यादातर विद्यार्थी ऐसे मध्यम वर्ग से होते हैं तो उनके लिए यह रकम खर्च करना थोड़ा कठिन होता है. छात्रों का यह भी कहना है कि अगर जांच केन्द्रों पर वह किसी संक्रमित के संपर्क में आ जाते हैं तो उन्हें अलग परेशानी होगी.