कोरोना काल में राहत को आगे आया “उद्गम विकास फाउंडेशन”

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कोरोना काल में भुखमरी के कगार पर आए आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को “उद्गम विकास फाउंडेशन” (Udgam Vikas Foundation) नामक समाजसेवी संस्था द्वारा राहत पहुंचाया जा रहा है. संस्था द्वारा जरूरतमंद लोगों को राशन व स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाया जा रहा है.

कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में चरमराई अर्थव्यवस्था में आर्थिक रूप से कमजोर लोग भूखमरी के कगार पर हैं. ऐसे में मजदूर, ठेला चालकों, कामगारों, रिक्शा चालकों तथा फुटपाथ पर जीवन निर्वहन करनेवाले लोगों के बीच दो जून की रोटी नसीब होनी मुश्किल हैं. ऐसी परिस्थिति में कई स्वयंसेवी एवं समाजसेवी संस्थाएं सरकार के साथ लगातार जरूरतमंदों की मदद कर रही हैं.

उसी प्रकार उद्गम विकास फाउंडेशन, जो की एक राष्ट्रव्यापी संस्था है, ने कोरोना के कहर को ध्यान में रखते हुए बिहार जैसे गरीब प्रदेश को हरसंभव सहायता पहुंचाने का काम कर रही है. संस्था द्वारा राज्य में लगातार “राहत सामग्री वितरण सह जागरूकता कार्यक्रम” चलाया जा रहा है.

संस्था ने अपने राहत कार्यों की कड़ी में बक्सर जिले के ब्रह्मपुर प्रखंड के एकरासी पंचायत के शुक्लपुरा ग्राम में 100 लोगों के बीच 15 दिनों का आटा, चावल, दाल, चीनी, सरसों तेल आदि आवश्यक खाद्य सामग्रियों का वितरण किया. यह कार्य फाउंडेशन के संस्थापक सदस्यों द्वारा किया गया. इसके साथ, संस्था ने वहां कोरोना किट जैसे – मास्क, सेनेटाइजर, इन्हेलर आदि वितरित किया.

इस दौरान गाँव के लोगों के बीच कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जारी गाइडलाइन से संबंधित पैम्फलेट भी बांटा गया ताकि अधिक से अधिक लोग कोरोना से बचाव हेतु जागरूक हो सके.

इसके पहले भी संस्था ने बड़हिया, लखीसराय, भोजपुर, वैशाली, मोकामा, नालंदा, सहित राज्य के कई हिस्सों में राहत सामग्री वितरण किया है तथा सह जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया है. संस्था ने इस जागरूकता कार्यक्रम की शुरुआत केन्द्रीय विद्यालय, कंकड़बाग़ के प्राचार्य के हाथों करवाया था. इसमें स्कूल के कामगारों, ठेला एवं रिक्शाचालकों तथा फुटपाथ पर जीवन बसर करनेवाले लोगों के बीच सामग्रियों का वितरण कर कराया गया था.

आप यह भी पढ़ें – कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर बिहार में अलर्ट

बता दें कि “उद्गम विकास फाउंडेशन” नामक इस संस्था की स्थापना केन्द्रीय विद्यालय कंकड़बाग़, पटना के पूर्ववर्ती छात्रों एवं उनके परिजनों द्वारा की गई है. संस्था का मुख्यालय दिल्ली है तथा कार्यक्षेत्र पूरा देश है.

आप यह भी पढ़ें – भारत में यह बन सकता है कोरोना की तीसरी लहर का कारण

पूनम त्रिपाठी जो शुक्लपुरा गांव की बेटी हैं और संस्था की संस्थापक सदस्य हैं ने कहा कि हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि इस जागरूकता कार्यक्रम के माध्यम से अधिकाधिक जरुरतमन्द लोगों को मदद पहुंचाई जा सके. इस कार्यक्रम में संस्था सदस्य डॉ शरद, विजय शुक्ल, शक्ति तिवारी, नीरज चौबे, वार्ड सदस्य मिथिलेश शुक्ल, राकेश शुक्ल सहित फाउंडेशन से जुड़े अन्य प्रतिनिधिगणों ने अपनी सक्रिय भूमिका निभाई है.