डोनाल्ड ट्रम्प ने किया ट्वीट – ‘Great News On Vaccines!’

नयी दिल्ली (TBN – The Bihar Now) | कोविड-19 का संक्रमण देश-दुनिया में तेजी से फैल रहा है. पूरी दुनिया में इसने अभी तक सवा करोड़ से अधिक लोगों को संक्रमित कर चुका है. साथ ही, अपने देश में भी कोरोना संक्रमण का आंकड़ा तेजी से बढ़ते हुए 9 लाख के पार पहुंच गया है.

कोरोना वायरस का वैक्सीन बनाने में देश-दुनिया के वैज्ञानिक लगातार काम कर रहे हैं. इस बारे में भारत सहित कई देशों से अच्छी खबरें भी आ रही है. इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चार शब्द के ट्वीट ने पूरी दुनिया में सुकून का एहसास करा दिया है.

कोविड वैक्सीन को लेकर बड़ी घोषणा कर दी

दरअसल बुधवार को भारतीय मानक समय के अनुसार शाम 5.43 बजे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सिर्फ चार शब्दों का एक ट्वीट किया – “वैक्सीन पर अच्छी खबर है (Great News On Vaccines!)”. ट्रंप के इस चार शब्दों के छोटे से ट्वीट ने दुनिया में बड़ी राहत का संदेश भेजा है.

ट्रंप के इस ट्वीट के बाद पूरे विश्व में यह चर्चा होने लगी है कि क्या अमेरिका ने कोरोना का वैक्सीन तैयार कर लिया है. बताते चले कि अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना इंक की वैक्सीन mRNA-1273 अपने पहले ट्रायल में पूरी तरह से सफल रही है.

ट्रंप के ट्वीट पर लोगों ने प्रतिक्रिया दी है जिसमें एक यूरोलॉजिस्ट व लेनॉक्स हिल अस्पताल में रोबोटिक सर्जरी के प्रमुख डॉ डेविड बी समदी ने ट्रंप के ट्वीट पर टिप्पणी की है. उन्होंने लिखा है कि पहले हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि यह टीका सुरक्षित और प्रभावी है. वैसे ये एक अच्छी खबर है. दुनिया के सबसे तेज दिमाग के साथ काम करके हम इस वायरस को समाप्त कर सकते हैं!

भारत में भी बहुत जल्द आ रहा वैक्सीन

इधर अपने देश में भी कोरोना वैक्सीन की एक ट्रायल सफल रहा है और उस पर ह्यूमैन ट्राइल शुरू हो गया है. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार कोविड-19 (Covid-19) टीके का ह्यूमैन ट्राइल लगभग एक हजार स्वयंसेवियों पर शुरू हो गया है.

आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉ बलराम भार्गव ने कोरोना वायरस संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिए वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया तेज करने को देश का ‘नैतिक दायित्व’ बताया है.

इधर भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने दो वैक्सीन के पहले और दूसरे स्टेज के ह्यूमैन ट्राइल की अनुमति दे दी है. भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने साथ मिलकर एक वैक्सीन तैयार किया हैं, जबकि जायडस कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड ने दूसरा वैक्सीन तैयार किया है.