“कृषि कानून बिल – 2020” विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ आयोजन

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| रविवार को पटना स्थित बामेती के परिसर के प्रशिक्षण हॉल में दो दिवसीय “कृषि कानून बिल – 2020” के विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन सम्पन्न हुआ. इसमें कृषि क्षेत्र में कार्य कर रहे प्रखण्ड उद्यान पदाधिकारी/उद्यान पर्यवेक्षक/सहायक तकनीकी प्रबंधक एवं प्रक्षेत्र प्रभारी ने भाग लिया.

इस कार्यक्रम में राज्य के 11 जिले – पटना, भोजपुर, बक्सर, रोहतास, नालन्दा, कैमूर, गया, अरवल, औरंगाबाद, जहानाबाद एवं नवादा से कुल 44 प्रशिक्षणार्थियों ने भाग लिया. इस कार्यक्रम में बामेती, बिहार, पटना के उप निदेशक (प्रसार प्रबंधन) शशि भूषण कुमार विद्यार्थी द्वारा समन्वय किया गया.

उप निदेशक (प्रसार प्रबंधन) ने आत्मा योजना/कृषि विभाग एवं “कृषि कानून बिल – 2020” से संबंधित संचालित सभी कार्यक्रमों को किसानों के बीच प्रचार-प्रसार किये जाने के लिये जानकारी दी. उनके द्वारा आत्मा योजना के माध्यम से फसल उत्पादन की समस्या, बाजार की कमी पर विशेष जानकारी उपलब्ध करायी गयी.

इस कार्यक्रम में निदेशक बामेती के द्वारा आत्मा योजना अन्तर्गत सभी कैफेटेरिया ऑफ एक्टिविटि में आने वाले सभी कार्यक्रमों के बारे में भी जानकारी दी गई. सनत कुमार जयपुरीयार, उप निदेशक (शष्य), बीज जाँच-सह-सहायक प्रशासक, बी0एस0ए0एम0 बोर्ड, बिहार, पटना ने बताया कि राज्य में किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिये नया “कृषि कानून बिल – 2020” लाया गया है. कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक, 2020 के तहत किसान देश के किसी भी कोने में अपनी उपज की बिक्री कर सकेंगे.

Also Read | भ्रष्ट अधिकारी और सरकार मिलकर कर रही अवैध कमाई – तेजस्वी

उन्होंने बताया कि राज्य में कृषि विपणन के क्षेत्र में काफी कार्य किये जा रहे हैं जिससे किसानों का उचित मूल्य दिलाये जाने के लिये कृषि विभाग तत्पर है. उन्होंने बताया कि इस कानून के अनुसार किसान अपनी फसलों को किसी दूसरे राज्य में ले जाकर भी बेच सकता है.

बामेती परिसर, पटना में दो दिवसीय कार्यक्रम में अपने-अपने क्षेत्र से संबंधित विशेषज्ञ/पदाधिकारी के द्वारा प्रशिक्षण दिये गये. दो दिवसीय कार्यक्रम शनिवार 28 अगस्त को शुरू की गई थी जो रविवार 29 अगस्त को खत्म हो गया. रविवार को कार्यक्रम समापन के साथ-साथ प्रमाण-पत्रों का भी