जनसंख्या घनत्व के कारण यहां कोरोना वायरस से खतरा अधिक – नीतीश

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | दिल्ली और मुंबई को पीछे छोड़ बिहार कोरोना का नया हॉटस्पॉट बनते जा रहा है. 3 अगस्त को कोरोना के 2297 नए मामले सामने आये जिसके साथ कोरोना का कुल अकड़ा 59567 हो चुका है यानि साठ हज़ार के बेहद करीब.

दिन-ब-दिन बढ़ते ये आंकड़े काफी चिंताजनक है. एक तरफ महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे हॉटस्पॉट में जहां कोरोना के मामले घट रहे हैं, वहीं बिहार में ये तेज़ी से बढ़ रहे हैं. इसका मतलब यह है कि बिहार कोरोना के नये हॉटस्पॉट के तौर पर उभर रहा है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि ‘राज्य में इससे निश्चित रूप से खतरा है क्योंकि बिहार में जनसंख्या घनत्व देश में सबसे अधिक है. यह राष्ट्रीय औसत से तीन गुणा अधिक है और इसलिए हमें सतर्क और सजग रहने की आवश्यकता है”.

नीतीश ने कहा कि संक्रमित होने से बचाव के लिए लोगों को मास्क पहनने, हाथों की सफाई, कम से कम दो गज की दूरी बनाए रखने के बारे में जागरूक करने की जरूरत है, इसके प्रसार को रोकने के लिए हरसंभव उपाय कर रही है.

उन्होंने बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी से आग्रह किया कि वह एक सर्वदलीय समिति गठित करें जो स्थिति को सुधारने के लिए अपने सुझाव देने के अलावा कोविड-19 के मुद्दे पर चर्चा करेगी.

नीतीश ने कहा कि डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, नर्सों और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को प्रोत्साहन के रूप में एक महीने का मूल वेतन दिया जाएगा.