इससे पाएं कोविड-19 संक्रमितों का अलर्ट और रहें सुरक्षित

पटना (TBN रिपोर्ट) | भारत सरकार द्वारा हाल ही लॉन्च किए गए ‘आरोग्य सेतु एप्प’ (Arogya Setu App) डाउनलोड करने में बिहार कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, तमिलनाडु व पंजाब जैसे अनेक राज्यों से आगे है. यह जानकारी रविवार को राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने दी. उन्होंने कहा है कि बिहार इस एप्प को डाउनलोड करने में पूरे देश में 9 वें स्थान पर है.

मोदी ने लोगों से ‘आरोग्य सेतु एप्प’ डाउनलोड कर कोविड-19 से जुड़ी सभी जानकारियां तथा इससे बरती जाने वाली सावधानियां प्राप्त करने की अपील की है. साथ ही उन्होंने बताया कि इस एप्प से हम सभी स्व-आकलन (self evaluation) कर पाएंगे. उन्होंने कहा कि भारत में यह एप्प सिंगापुर व साउथ कोरिया से प्राप्त अनुभवों के आधार पर लांच किया गया है.

मोदी ने कहा कि यह एप्प देश की 11 भाषाओं में उपलब्ध है. इस एप्प में उपभोक्ताओं के व्यक्तिगत डेटा को पूरी तरह से गोपनीय रखने के नियमों का पालन किया गया है. भारत सरकार बहुत जल्द फीचर फोन के लिए भी यह एप्प लांच करने वाली है. प्रधानमंत्री के अनुसार आने वाले दिनों में पूरे देश में भ्रमण के लिए इस एप्प का इस्तेमाल ई-पास के तौर पर भी किया जा सकेगा.

इस एप्प के जरिए कोई व्यक्ति अपना स्व-आकलन कर कोरोना संक्रमण की स्थिति जान सकता है. साथ ही कोविड-19 से संबंधित सारी जानकारियां तथा इससे बचने के लिए बरती जाने वाली सावधानियों को भी प्राप्त कर सकता है.

इस एप्प के बारे में उन्होंने बताया कि इस एप्प का इस्तेमाल करते समय फोन के ब्लूटूथ व लोकेशन फीचर को ऑन रखना होता है ताकि कोरोना संक्रमित किसी व्यक्ति के नजदीक आने पर अलर्ट प्राप्त हो जाए. इससे एप्प का इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति दूरी बना कर अपना बचाव कर सकता है. एप्प में सभी राज्यों के हेल्पलाइन न. की जानकारी भी दी गई है.

क्या है यह आरोग्य सेतु एप्प

यह एप्प ब्लू टूथ और लोकेशन जेनेरेटेड सोशल ग्राफ की मदद से कोरोना पॉजिटिव लोगों के साथ किसी के सम्पर्क को ट्रैक करता है और यदि कोई जाने-अनजाने किसी कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति के सम्पर्क में आता है तो उसे सूचित करने के साथ ही सेल्फ आइसोलेट होने की आवश्यकता है या उसमें कोविड-19 के लक्षण विकसित हो रहा हो तो उस स्थिति में उसे सहायता पहुंचाने में भी मदद करता है.

Advertisements