95% से अधिक लोगों के घर तक शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा चुका है – नीतीश

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि “हर घर नल का जल योजना” (Har Ghar Nal Ka Jal Yojna) के अंतर्गत अभी तक राज्य के 95% से अधिक आबादी तक शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा चुका है. वे सोमवार को हर घर नल का जल योजना की समीक्षा कर रहे थे.

1 अणे मार्ग स्थित ‘संकल्प’ में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि पहले राज्य में सिर्फ 2% लोगों के घर तक ही पीने का पानी उपलब्ध था. सरकार द्वारा संचालित हर घर नल का जल योजना के अंतर्गत अब तक यह 95% लोगों के घरों तक पहुँचाया जा चुका है.

उन्होंने कहा कि लोगों को स्वच्छ पीने का पानी हमेशा उपलब्ध रहे, इसके लिये उचित रखरखाव की आवश्यjkकता है. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हर हाल में मेंटेनेंस की व्यवस्था बनाये रखें ताकि इस योजना के द्वारा लोगों को हमेशा शुद्ध पेयजल मिलता रहे.

पानी की बर्बादी के कारण पर्यावरण को नुकसान न पहुंचे

मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतर व्यवस्था के साथ रखरखाव और लगातार निगरानी करते रहें. इस संबंध में लोगों की शिकायतों का तीनों विभागों – पंचायती राज विभाग, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग तथा नगर विकास एवं आवास विभाग – के द्वारा समाधान तो किया ही जाना चाहिये, साथ ही विभाग भी स्वयं संज्ञान लेते हुये इसकी मोनिटरिंग करता रहे. पानी की बर्बादी के कारण पर्यावरण को नुकसान न पहुंचे, इसके लिए विभाग ध्यान दे कि कहीं भी पाईपलाइन/नल खुला न रहे.

आप यह भी पढ़ेंअगर चिराग साथ रहते तो सबको लाभ मिलता – तारकिशोर

मुख्यमंत्री ने पंचायती राज विभाग, नगर विकास एवं आवास विभाग तथा लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के अधिकारियों को कार्यों की प्रगति का निरंतर मोनिटरिंग करते हुए बाकी कार्यों को तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया.

इससे पहले, समीक्षा के दौरान पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के सचिव जितेन्द्र श्रीवास्तव तथा नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव आनंद किशोर ने प्रेज़न्टेशन दिया. इसके माध्यम से हर घर नल का जल योजना की कार्य प्रगति, मोनिटरिंग व्यवस्था, विभागीय लक्ष्य, मेंटेनेंस आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी दी. इसमें बताया गया कि जुलाई महीने के अंत तक बचे हुये कार्यों को पूर्ण कर लिया जायेगा.

आप यह भी पढ़ेंकांग्रेस को सुधार की जरूरत : सिब्बल

इस समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार एवं मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह उपस्थित थे.

वहीं वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री रामप्रीत पासवान, पंचायती राज मंत्री सम्राट चैधरी, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, अपर मुख्य सचिव पंचायती राज अमृत लाल मीणा, प्रधान सचिव नगर विकास एवं आवास विभाग आनंद किशोर एवं सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण जीतेन्द्र श्रीवास्तव जुड़े हुए थे.