10 लाख युवाओं के लिए सरकारी रोजगार मेला का शुभारंभ, 75 हज़ार युवाओं को मिला नियुक्ति पत्र

आज़ादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर प्रधानमंत्री द्वारा 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने के लिए रोजगार मेला का शुभारंभ
प्रथम चरण में चयनित 75 हज़ार युवाओं को नियुक्ति पत्र का वर्चुअल माध्यम से किया गया वितरण
मुजफ्फरपुर में केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री पशुपति कुमार पारस ने 63 महिला व पुरुष युवाओं को दिया नियुक्ति पत्र

पटना / मुजफ्फरपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| अपना देश आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. आज़ादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने के लिए वर्चुअल माध्यम से रोजगार मेला (PM Rojgar Mela 2022) का शुभारंभ किया गया. साथ ही, इसके पहले चरण में चुने गए कुल 75 हज़ार युवाओं को नियुक्ति पत्र का वितरण भी वर्चुअल माध्यम से किया गया.

इसी क्रम में मुजफ्फरपुर जिला में डाक विभाग, मुजफ्फरपुर की ओर से पीएमजी कार्यालय से सटे होटल सभागार में कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस (Union Minister of Food Processing Industries Pashupati Kumar Paras) शामिल थे. इनके साथ बीजेपी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal), पूर्व उप मुख्यमंत्री रेणु देवी (Renu Devi), सांसद अजय निषाद (MP Ajay Nishad), सांसद वीणा देवी (MP Veena Devi) भी शामिल हुई.

इस कार्यक्रम में सशस्त्र सीमा बल के असिस्टेंट कमांडेंट के 1, बीएसएफ इंस्पेक्टर के 2, पोस्टल असिस्टेंट के 9, सीआरपीएफ सब इंस्पेक्टर के 36, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 10, ईएसआईसी के 5 पद, इस प्रकार कुल 63 महिला व पुरुष युवाओं को नियुक्ति पत्र दी गई.

इसे भी पढ़ें| ‘होनहार वीरवान के होत चिकने पांव’ = जन सुराज पदयात्रा

केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री पशुपति कुमार पारस ने कहा कि आज का दिन काफी ऐतिहासिक है. आज से 10 लाख लोगों को नौकरी देने की शुरुआत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि आगे और बड़ी संख्या में युवों को रोज़गार दिया जायेगा. केंद्रीय मंत्री ने इस इतिहासिक कार्य के लिये प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया.

मौक़े पर केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में नौकरी की नियुक्ति पत्र पाए युवाओं ने खुशी ज़ाहिर करते हुये कहा कि जिन युवाओं में यह भावना बैठी थी कि नौकरी जा रही है उनपर विराम लग गया है. सबने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि मेहनत कर नौकरी पाकर देश की सेवा की करने का अवसर मिला है.

(इनपुट-विज्ञप्ति)