पटना नगर निगम ने 400 बेघर लोगों के लिए बनाये रैन बसेरा

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शहर में जारी शीतलहर को देखते हुए 400 से अधिक बेघर गरीबों लोगों को यहां के विभिन्न इलाकों में स्थापित रैन बसेरों में शरण दी गई है. अभी जिले में बेघर लोगों के लिए पांच स्थायी सहित कुल 27 रैन बसेरे कार्य कर रहे हैं.

पटना के डीएम कुमार रवि ने कहा कि लोगों को रैन बसेरों में ऊनी कंबल, तकिए, बिस्तर और गद्दे के अलावा अन्य मूलभूत सुविधाएं, जैसे पीने का पानी और शौचालय उपलब्ध कराया जा रहा है. डीएम ने कहा कि पटना नगर निगम द्वारा शहर में बेघर लोगों के लिए मुफ्त आवास की सुविधा उपलब्ध कराई गई है. जरूरत पड़ने पर इस तरह के और आश्रय विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित किए जाएंगे.

बता दें कि जिला प्रशासन ने गांधी मैदान, स्टेशन रोड, एग्जीविशन रोड, बेली रोड और फ्रेज़र रोड जैसे क्षेत्रों में सड़कों के किनारे या बस स्टॉप और चौक के पास रहने वाले लोगों के बीच कंबल वितरित किए हैं. साथ ही, शहर के विभिन्न इलाकों में अलाव की व्यवस्था भी की गई है.

नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि पटना साइंस कॉलेज, मलाही पकरी, गाय घाट, सैदपुर और मैकडॉवेल राउंडअबाउट के पास पांच स्थायी रैन बसेरे बनाए गए हैं. हिमांशु ने बताया कि इन स्थानों पर, लोग सर्द रातें बिताने के लिए आवास पा सकते हैं. इन आश्रयों में टेलीविजन, वॉटर हीटर, शौचालय, पीने का पानी, कंबल के साथ बिस्तर, तकिए और गद्दे जैसी सुविधाएं हैं.

आप ये भी पढ़ें शीतलहर को लेकर सिविल सर्जन ने जारी किया अलर्ट

नगर आयुक्त के अनुसार दिन में दो बार रैन बसेरों में रहने वालों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा हैं. उनके अनुसार, आवास और अन्य सेवाएं निःशुल्क हैं. हालांकि, भोजन के लिए लोगों को 30 रुपये का भुगतान करना पड़ता है.

हिमांशु ने आगे कहा कि गांधी मैदान, जे पी गोलंबर, पटना जीपीओ, मीठापुर और न्यू सचिवालय के पास अस्थायी आश्रयों की स्थापना की गई है. उन्होंने बताया कि अस्थायी ठिकानों को ऐसे स्थानों पर रखा गया है जहाँ शौचालय और पीने के पानी की सुविधाएँ मौजूद हैं. पीएमसी कमिश्नर ने कहा कि ये वाटर प्रूफ शेल्टर हैं. विशेष रूप से चौकों और राउंडअबाउट पर 20 स्थानों पर बोनफायर सुविधा शुरू की गई है.

बताते चलें कि पीएमसी सूत्रों के अनुसार बताया गया है कि इन रैन बसेरों में रिक्शा-चालकों सहित लगभग 450 लोगों को आश्रय दी गई है.