संविधान दिवस से पहले चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन

पटना / समस्तीपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पूरे देश सहित बिहार राज्य में भी आज़ादी का अमृत महोत्सव (Azadi Ka Amrit Mahotsava) बड़े जोर-शोर से मनाया जा रहा है. आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत विभिन्न तरह के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं.

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार ( Ministry of Information & Broadcasting, Government of India) के क्षेत्रीय कार्यालय, फील्ड आउटरीच ब्यूरो (Field Outreach Bureau) दरभंगा द्वारा समस्तीपुर में मनाए जाने वाले संविधान दिवस कार्यक्रम (Programme of Constitution Day) के पूर्व जागरूकता कार्यक्रम के तहत गुरुवार 25 नवम्बर,2021 को आर.एस.बी इन्टर विधालय, समस्तीपुर में आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत संविधान दिवस एवं कौमी एकता सप्ताह विषय पर छात्र-छात्राओं के बीच चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया.

इस प्रतियोगिता में लगभग 150 छात्र-छात्रों ने भाग लिया. इस दौरान विधालय के प्रधान अध्यापक भूपनश्वर राम अपने सहयोगी शिक्षकों के साथ उपस्थित रहें. मौके पर क्षेत्रीय प्रचार अधिकार जावेद अंसारी ने अपने सहयोगी मिहिर कुमार झा के साथ विषय वस्तु के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

शुक्रवार 26 नवम्बर को इसी विधालय में मुख्य जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा. सुबह 9 बजे से नेहरु युवा केंद्र, समस्तीपुर के सहयोग से एक जन जागरूकता रैली का भी आयोजन किया जाएगा.

यह भी पढ़ें| बेतिया इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन 26 दिसंबर

साथ ही परिचर्चा सह प्रश्नोतरी प्रतियोगिता एवं विभागीय कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा और आज के चित्रकला प्रतियोगिता के विजेताओं को कल आयोजित होने वाले मुख्य कार्यक्रम में प्रशस्ति पत्र के साथ पुरस्कृत किया जायेगा.

क्या है संविधान दिवस

संविधान दिवस जिसे राष्ट्रीय कानून दिवस (National Law Day) के रूप में भी जाना जाता है, भारत में हर साल 26 नवंबर 1949 को भारत के संविधान को अपनाने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है. 26 नवंबर 1949 को भारत की संविधान सभा ने भारत के संविधान को अपनाया (Constituent Assembly of India adopted to the Constitution of India) और यह 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ.

भारत सरकार ने 19 नवंबर 2015 को राजपत्र अधिसूचना (gazette notification) द्वारा 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में घोषित किया. भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister of India Narendra Modi) ने 11 अक्टूबर 2015 को मुंबई में बीआर अंबेडकर की स्टैच्यू ऑफ इक्वेलिटी स्मारक (B.R. Ambedkar’s Statue of Equality memorial in Mumbai) की आधारशिला रखते हुए घोषणा की.

2021 का वर्ष अंबेडकर की 131वीं जयंती थी, जिन्होंने संविधान सभा की मसौदा समिति की अध्यक्षता की थी और संविधान के प्रारूपण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. पहले इस दिन को कानून दिवस के रूप में मनाया जाता था. 26 नवंबर को संविधान के महत्व को फैलाने और अम्बेडकर के विचारों और विचारों को फैलाने के लिए चुना गया था.