75 हजार लोगों से अंगदान-देहदान का संकल्प पत्र भरवाया जाएगा

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| आजादी के 75 वें वर्ष में बिहार के सभी 38 जिलों में 75 हजार लोगों से अंगदान-देहदान का संकल्प पत्र भरवाया जाएगा. यह बात दधीचि देहदान समिति के मुख्य संरक्षक सुशील कुमार मोदी ने विश्व अंगदान दिवस पर समिति की ओर से बिहार इंडस्ट्री एसोसिएशन के सभागार में आयोजित समारोह में कही.

पूर्व उपमुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद ने कहा कि राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में ब्रेन डेथ कमिटी का गठन होनी चाहिए ताकि दुर्घटना या अन्य कारणों से ब्रेन डेथ हुए लोगों का अंगदान संभव हो सके.

उन्होंने राज्य के अन्य 5 मेडिकल कॉलेज अस्पतालों को आई बैंक का लाइसेंस मिलने पर राज्य सरकार को बधाई देते हुए कहा कि अगले छह महीने में उन्हें कार्यरत किया जाय.

मोदी ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में पूरे देश मे 2.90 लाख जिनमें तमिलनाडु में सर्वाधिक 47560, गुजरात में 33716 और महाराष्ट्र में 30415 लोगों ने नेत्रदान किया जबकि इस अवधि में बिहार में 450 नेत्रदान ही हो पाया। मगर अब बिहार भी पीछे नहीं रहेगा.

उन्होंने कहा कि अंगदान को गति देने के लिए डेडिकेटेड हेल्पलाइन नम्बर व डेडिकेटेड वाहन की व्यवस्था के साथ ही देहदान का लिखित एसओपी बनना चाहिए ताकि अंतिम संस्कार के दौरान देहदानियों को समुचित सम्मान मिल सकें.

उन्होंने कहा कि बिहार देश का पहला राज्य है जहां कोरोना से अनाथ हुए 724 बच्चों को भरण-पोषण के तौर पर दधीचि देहदान समिति की ओर से तैयार दानदाताओं द्वारा प्रति महीने 500 रु. अगले 3 साल तक दिया जाएगा. उन्होंने अधिक से अधिक लोगों से इस अभियान से जुड़ने की अपील की.

इस समारोह को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, पद्मश्री विमल जैन, आइजीआइएमएस के निदेशक डॉ एन आर विश्वास, मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ मनीष मंडल आदि ने भी सम्बोधित किया.