कोरोना वायरस को लेकर खुद सतर्क रहें, दूसरों को जागरूक करें – नीतीश

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- कोरोना वायरस के कहर से चीन में मची हाहाकार के बाद विश्वभर में कोरोना वायरस के चलते सतर्कता बरती जा रही है. बिहार में भी कोरोना वायरस को लेकर एडवाइजरी जारी की जा चुकी है. मुख्यमंत्री ने बुधवार को एक अणे मार्ग स्थित संकल्प में कोरोना वायरस को लेकर मुख्य सचिव  दीपक कुमार के साथ उच्चस्तरीय समीक्षा की. नीतीश कुमार ने कोरोना वायरस के संबंध में सभी ग्राम पंचायतों में ग्रामसभा की बैठक कराने का निर्देश देते हुए मुख्य सचिव को कहा है कि कोरोना वायरस के प्रति जागरूक फ़ैलाने के लिए सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दें ताकि वो कोरोना के सम्बन्ध में सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के तहत मास्क, सेनिटाइजर का प्रयोग करने एवं अन्य सावधानी बरतने की हिदायत से आम जनता का जागरूक करवाएं.

कोरोना वायरस के सम्बन्ध में बोलते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि “कोरोना वायरस से लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. इसको लेकर राज्य सरकार पूरी तरह सतर्क है. लोगों से अपील है कि भीड़भाड़ वाले जगहों में वे सतर्कता बरतें और स्वच्छता का खास ख्याल रखें”. आगे उन्होंने कहा कि “स्वास्थ्य विभाग को सभी जरूरी उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं. स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट पर रखा गया है. मुख्य सचिव को यह भी निर्देश दिया कि सभी अस्पतालों में समुचित व्यवस्था सुनिशिचत की जाय. इंडो-नेपाल बॉर्डर खासकर बॉडर्र से सटे जिलों पर खास निगरानी रखने का निर्देश दिया. इंडो-नेपाल के सीमावर्ती प्रवेश और निकासी प्वाइंट पर विशेष सतर्कता बरतने को कहा है. साथ ही पटना एवं गया हवाई अड्डे पर लोगों को जागरूक करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है”.

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिया है कि सभी पंचायती राज सदस्यों, एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका, हेल्थ केयर वर्कर के द्वारा कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता अभियान चलाया जाये और लोगों को जागरूक किया जाये. जिससे सभी लोग कोरोना वायरस को लेकर सतर्क रहें. मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये नियमित तौर पर इसका अनुश्रवण करने का निर्देश भी दिया है.