बिहार विस चुनाव: एनडीए जल्द ही संयुक्त घोषणा-पत्र करेगी जारी

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क) | भारत के चुनाव आयोग (ECI) द्वारा पहले ही घोषित बिहार विस चुनाव की मतदान तारीखों के साथ, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) द्वारा जल्द ही एक संयुक्त घोषणापत्र (Joint manifesto) जारी करने की संभावना है. एनडीए के संयुक्त घोषणापत्र (Joint manifesto) में भारतीय जनता पार्टी के ‘आत्मनिर्भर बिहार‘ के एजेंडे और जनता दल यूनाइटेड के ‘7 निश्चय (सात वादे) भाग -2‘ का मिश्रण होगा.

बिहार विस चुनाव में लड़ाई मुख्य रूप से भाजपा और जदयू के नेतृत्व वाले राजग (NDA) तथा राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और वाम दलों के महागठबंधन (Mahagathbandhan) के बीच है. ज्ञातव्य है, महागठबंधन का नेतृत्व आरजेडी कर रहा है.

ये हो सकते हैं संयुक्त घोषणापत्र में

नाम न छापने की शर्त पर बिहार भाजपा के एक शीर्ष नेता ने बताया कि पहले पार्टी एक अलग घोषणापत्र जारी करने की योजना बना रही थी, लेकिन अब हम एनडीए (NDA) के घोषणापत्र पर काम कर रहे हैं. यह घोषणा-पत्र भाजपा के ‘आत्मनिर्भर बिहार’ और जेडीयू के ‘7 निश्चय योजना भाग 2’ के एजेंडे का मिश्रण होगा.

उन्होंने कहा, “बहुत जल्द हम एनडीए के संयुक्त घोषणापत्र (Joint manifesto) को जारी करेंगे जो बिहार के लोगों को संदेश देगा कि एनडीए केवल चार राजनीतिक दलों का गठबंधन नहीं है, बल्कि हमारा एक साझा एजेंडा (common agenda) भी है.” नेता ने आगे कहा कि ‘आत्मनिर्भर बिहार’ और ‘7 निश्चय योजना भाग 2’ के प्रमुख बिंदुओं को संयुक्त घोषणा पत्र में जगह दी जाएगी.

उन्होंने कहा कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए ‘आत्मनिर्भर भारत’ को महत्व दे रहे हैं. पीएम से प्रेरणा लेकर हमने एनडीए के घोषणापत्र में ‘आत्मनिर्भर बिहार’ पर ध्यान केंद्रित किया है. ‘आत्मनिर्भर बिहार’ बिहार के औद्योगिकीकरण का मार्ग प्रशस्त करेगा तथा एक बार छोटे और मध्यम स्तर के उद्योगों को बड़े पैमाने पर शुरू किया जाता है, तो निश्चित रूप से बिहार के लोगों को अपने राज्य में ही नौकरी मिलेगी और उन्हें पलायन नहीं करना पड़ेगा.

जेडीयू के एक वरिष्ठ नेता ने एजेंसी को बताया कि ‘सात निश्चय पार्ट -2’ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है, जिसके तहत राज्य के सभी जिलों में मेगा कौशल केंद्र खोले जाएंगे और राज्य भर के सभी 9 डिवीजनों में एक टूलरूम आवश्यक रूप से उपलब्ध कराया जाएगा. साथ ही युवाओं के लिए उद्यमिता प्रशिक्षण केंद्र (Entrepreneurship Training Centre) भी खोला जाएगा.

सीएम नीतीश कुमार के वायदों के अनुसार, राज्य में एक अलग कौशल और उद्यमिता विकास विभाग खोला जाएगा जो ‘सात निश्चय-भाग 2’ के एक घटक “युवा शक्ति – बिहार की प्रगति” के तहत होगा. सीएम ने सभी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) और पॉलिटेक्निक को भी नए विभाग के तहत लाने का प्रस्ताव दिया है और युवाओं के लिए और अधिक योजनाओं की घोषणा की जाएगी, जब “सात निश्चय पार्ट -2” अंतिम रूप में आएगा.

एनडीए के संयुक्त घोषणा पत्र में गाँवों पर विशेष ध्यान देने के साथ महिलाओं और किसानों दोनों के लिए भी कई घोषणाएँ हो सकती हैं. इस बीच, दोनों दलों के नेताओं ने विश्वास व्यक्त किया कि संयुक्त घोषणापत्र और राज्य में पिछले वर्षों में एनडीए सरकार द्वारा किए गए कार्यों के आधार पर मतदाता इस बार फिर से एनडीए का चयन करेंगे.

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता और कृषि मंत्री, प्रेम कुमार बिहार भाजपा घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष हैं. 243 सीटों वाली बिहार विधानसभा के चुनाव तीन चरणों में होंगे – 28 अक्टूबर, 3 नवंबर, और 7, और मतगणना 10 नवंबर को होगी.