ग्रामीण भारत में भी रिलायंस जियो नंबर वन, वोडा-आइडिया को पछाड़ा

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क) | देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 16 करोड़ 63 लाख से अधिक ग्राहकों के साथ ही अब गांवों में भी रिलायंस जियो नंबर वन पर पहुँच गया है. जियो ने वोडा-आइडिया को पछाड़ कर यह पोजीशन हासिल की है. ट्राई द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार जून माह में रिलायंस जियो ने वोडा-आइडिया को पछाड़ कर यह मुकाम हासिल किया है.

जून में रिलायंस जियो ने ग्रामीण क्षेत्रों में 24 लाख 45 हजार से अधिक ग्राहक अपने नेटवर्क से जोड़े. वहीं वोडा-आइडिया ने समान अवधि में करीब 24 लाख और एयलटेल ने 20 लाख 68 हजार ग्रामीण ग्राहकों से हाथ धोया. जून के अंत ग्रामीण भारत में वोडा-आइडिया से 16 करोड़ 60 लाख और एयरटेल से करीब 15 करोड़ 10 लाख ग्राहक जुड़े थे.

जियो की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, ओवरऑल नंबर्स की बात करें तो यहां भी जियो बाकी प्रतिद्वंदियों से खासा आगे नजर आता है. जून अंत तक 39 करोड़ 72 लाख से अधिक ग्राहक जियो नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे थे. मई माह के मुकाबले जून में रिलायंस जियो ने करीब 45 लाख नए ग्राहकों को जोड़ा. केवल रिलायंस जियो इस अवधि में नए उपभोक्ता जोड़ पाई, अन्य कंपनियों ने भारी मात्रा में ग्राहकों को खोया.

वोडा आइडिया ने जून में सबसे अधिक 48.21 लाख ग्राहक गंवा दिए. 17.44 लाख उपभोक्ता खोकर सरकारी कंपनी बीएसएनएल दूसरे नंबर पर रही. तीसरे नंबर पर एयरटेल रही. समान अवधि यानी जून में 11 लाख 28 हजार से अधिक उपभोक्ताओं ने एयरटेल का नेटवर्क छोड़ दिया. कुल ग्राहक संख्या के मामले में रिलायंस जियो के बाद एयरटेल 31.66 करोड़ के साथ दूसरे और 30.51 करोड़ ग्राहकों के साथ वोडा-आइडिया तीसरे नंबर पर रही.

विशेषज्ञ दूरसंचार क्षेत्र में अभी और भी उठापटक की आशंका जता रहे हैं. रिलायंस जियो के पोस्टपेड प्लस प्लान, दिग्गज कंपनियों वोडा-आइडिया और एयरटेल के लिए चिंता का कारण बने हुए हैं. जियो के पोस्टपेड प्लान लॉन्च होते ही शेयर बाजार में प्रतिद्वंदी कंपनियों के शेयर मुंह के बल गिरे. संभावना है कि नए पोस्टपेड प्लान्स के दम पर रिलायंस जियो प्रीपेड के बाद अब पोस्टपेड सेगमेंट में भी सेंध लगाएगा.

रिलायंस के मालिक मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं आम बैठक में अगले तीन वर्षों में जियो के ग्राहक पचास करोड करने का लक्ष्य रखा था. उनकी नजर 30 करोड 2जी ग्राहक में से अधिक से अधिक को अपने साथ जोड़ने की है.