16 सितम्बर से 02 अक्टूबर तक ECR मनाएगा ‘स्वच्छता पखवाड़ा’

हाजीपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शुक्रवार 16 सितंबर से रविवार 2 अक्टूबर तक पूर्व मध्य रेल ‘स्वच्छता पखवाड़ा’ (East Central Railway to celebrate ‘Swachhta Pakhwada’) मनाएगा. इस आशय की जानकारी पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी वीरेन्द्र कुमार (ECR CPRO Virendra Kumar) ने दी है.

पूर्व मध्य रेल द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार ‘स्वच्छता पखवाड़ा’ के दौरान रेलवे स्टेशन परिसर एवं ट्रेनों में साफ-सफाई, वाटर-बूथ की स्वच्छता एवं पेयजल की गुणवत्ता के बारे में लोगों को बताया जाएगा. साथ ही एनजीओं एवं चैरिटेबुल संस्था के सहयोग से आम लोगों के बीच प्रसाधन की साफ-सफाई, डस्टबिन की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता, कचरे का निष्पादन तथा स्वच्छता जागरूकता अभियान चलाना जैसे कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे.

विभिन्न तारीखों पर होंगे कई प्रोग्राम

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी वीरेन्द्र कुमार के अनुसार, ‘स्वच्छता पखवाड़ा’ के दौरान दिनांक शुक्रवार 16 सितम्बर को ‘स्वच्छ जागरूकता दिवस’, 17 एवं 18 सितम्बर को ‘स्वच्छ संवाद दिवस’, 19 एवं 20 सितम्बर को ‘स्वच्छ स्टेशन दिवस’, 21 एवं 22 सितम्बर को ‘स्वच्छ रेल गाड़ी दिवस’, 23 एवं 24 सितम्बर को स्वच्छ परिसर दिवस, 25 एवं 26 सितंबर को ‘स्वच्छ आहार दिवस’, 27-28 सितम्बर को ‘स्वच्छ नीर दिवस’, 29 सितम्बर को ‘स्वच्छ प्रसाधन दिवस’ तथा 30 सितम्बर को ‘स्वच्छ प्रतियोगिता दिवस’ एवं स्वच्छता पखवाड़े के दौरान आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों की समीक्षा की जायेगी.

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी वीरेन्द्र कुमार ने जानकारी दी है कि ‘स्वच्छता पखवाड़ा’ के दौरान हर दिन अलग-अलग प्रोग्राम आयोजित किये जाएंगे. इसका विवरण निम्न प्रकार से है –

शुक्रवार 16 सितम्बर को ‘स्वच्छ जागरूकता दिवस’ के अवसर पर रेलकर्मियों को स्वच्छता शपथ दिलायी जायेगी. इसके साथ ही रेलकर्मियों तथा उनके परिजनों के मध्य उनके आस-पास बेहतर स्वच्छ वातारण बनाने के उद्देश्य से प्रभात फेरी निकाला जायेगा.

वहीं, 17 एवं 18 सितम्बर को ‘स्वच्छ संवाद दिवस’ के अवसर पर एनजीओ, स्काउट एंड गाईड को शामिल कर रेलवे कॉलोनी एवं अन्य रेल परिसरों में साफ-सफाई से संबंधित सेमिनार एवं कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा. रेलवे स्टेशनों पर स्वच्छता एवं परिसरों में सफाई को निरंतर बनाये रखने आदि विषयों पर सेमिनार का आयोजन किया जायेगा. इसके साथ ही यात्रियों से स्वच्छता से संबंधित फीडबैक लिया जाएगा.

19 एवं 20 सितम्बर को ‘स्वच्छ स्टेशन दिवस’ के अवसर पर सभी स्टेशनों पर विशेष साफ-सफाई अभियान चलाया जायेगा. 19 सितम्बर को सभी ए-1 एवं ए श्रेणी के स्टेशनों पर तथा 20 सितम्बर को शेष सभी स्टेशनों पर व्यापक स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा. इसके तहत सभी स्टेशनों पर आवश्यकतानुसार अतिरिक्त डस्टबिन उपलब्ध करायी जायेगी.

उसके बाद, 21 एवं 22 सितम्बर को ‘स्वच्छ रेल गाड़ी दिवस’ के अवसर पर ट्रेनों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम द्वारा साफ-सफाई की जांच की जायेगी. जांच के दौरान बेडरॉल की स्वच्छता की गुणवत्ता की जांच की जाएगी.

यह भी पढ़ें| पूर्व मध्य रेल में शुरू हुआ राजभाषा पखवाड़ा, जीएम ने किया शुभारंभ

फिर 23 एवं 24 सितम्बर को ‘स्वच्छ परिसर दिवस’ के अवसर पर 23 सितंबर को कार्यस्थल, कार्यालय, अस्पताल, स्कूल, कोचिंग डिपो में साफ-सफाई की गुणवत्ता में वृद्धि, स्टेशन परिसर में आवष्यक यात्री सुविधा की उपलब्धता की जांच तथा अनधिकृत अतिक्रमण को हटाने का कार्य किया जायेगा तथा सभी नालों की सफाई की जायेगी जबकि 24 सितम्बर को आवासीय स्थल, रेलवे कॉलोनी, रिटायरिंग/वेटिंग रूम, रनिंग रूम, रेस्ट हाउस में सफाई अभियान चलाया जायेगा.

‘स्वच्छ आहार दिवस’ के अवसर पर रविवार 25 सितम्बर को ट्रेनों एवं स्टेशन परिसर में मोबाईल कैटरिंग यूनिट, फुड स्टॉल, रेस्टोंरेंट तथा अन्य कैटरिंग सेवाओं की गुणवत्ता की जांच की जायेगी एवं उनके गुणवत्ता में और सुधार के लिए आवश्यक कदम उठाए जायेंगे जबकि 26 सितम्बर को सभी पैंट्रीकार में साफ-सफाई की जायेगी. इसके साथ ही यात्रियों से खान-पान की गुणवत्ता की जांच की जाएगी.

‘स्वच्छ नीर दिवस’ के अवसर पर मंगलवार 27 सितम्बर को ट्रेनों एवं स्टेशन परिसर में पानी की पर्याप्त उपलब्धता तथा जल स्रोतों – नलों, वाटर वेंडिग मशीन, वाटर कुलर एवं वाटरबूथ आदि की जांच की जायेगी जबकि 28 सितम्बर को कार्यालय, अस्पताल, स्कूल, रेलवे कॉलोनी में जल स्रोतों की जांच की जायेगी. इसके साथ पेयजल की गुणवत्ता की नमूना जांच भी की जायेगी.

गुरुवार 29 सितम्बर को ‘स्वच्छ प्रसाधन दिवस’ के अवसर पर सभी स्टेशनों, कोचिंग डिपो एवं ट्रेनों में शौचालय की सघन साफ-सफाई की जायेगी.

30 सितम्बर को स्वच्छता प्रतियोगिता दिवस के अवसर पर रेलकर्मियों के बीच साफ-सफाई के प्रति स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना को बढ़ावा दिया जायेगा. साथ ही स्वच्छता पखवाड़े के दौरान आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों की समीक्षा की जायेगी.