लॉकडाउन में किसानों/इनपुट डीलरों को अगले सप्ताह से ऑनलाईन ट्रेनिंग -डॉ प्रेम कुमार

पटना (TBN रिपोर्ट) | पूरे देश में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने हेतु जारी लॉकडाउन से बड़े पैमाने पर लोग बाहर के राज्यों से बिहार लौटे हैं जिससे राज्य में बेरोजगारी की समस्या खड़ी हो गई है. असीम संभावनाओं के कारण राज्य का कृषि क्षेत्र बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध करा सकता है. ऐसा कहना है बिहार के कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार का.

डॉ प्रेम कुमार, कृषि मंत्री, बिहार सरकार

उन्होंने कहा कि राज्य में पहले से भी बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगार लोग हैं, जिन्हें रोजगार की आवश्यकता है. कृषि क्षेत्र में रोजगार के लिए लोगों को पहले प्रशिक्षित करने की आवश्यकता होगी.

उन्होंने कहा कि बामेती (BAMETI) एवं आत्मा (ATMA), जो कृषि एवं इससे संबंधित लगभग 23 रोजगारपरक विषयों पर कौशल प्रशिक्षण देता है, लेकिन अभी लॉकडाउन में सामूहिक प्रशिक्षण नहीं दे सकता है. ऐसी परिस्थिति में राज्य के किसानों/बेरोजगार युवक/युवतियों के लिए ऑनलाईन प्रशिक्षण की व्यवस्था कर उन्हें स्वरोजगार का अवसर उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है.

उनके अनुसार किसानों के लिए ऑनलाईन प्रशिक्षण की व्यवस्था में शायद बिहार पहला राज्य होगा.
मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए बामेती, बिहार, पटना एवं आत्मा द्वारा बिहार के जिलों में विभिन्न कार्यक्रमों के कार्यान्वयन में उत्पन्न समस्याओं को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में कार्यों को ऑनलाईन कराने की व्यवस्था प्रारंभ किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ऑनलाईन के माध्यम से वेब एप के माध्यम से न्यूनतम 50 और अधिकतम 80 किसानों/प्रसार कार्यकत्र्ताओं/इनपुट डीलरों के साथ जुड़कर उनको वित्तीय वर्ष 2020-21 के स्वीकृत प्रशिक्षण कैलेण्डर के अनुसार विभिन्न विषयों पर प्रशिक्षण माड्यूल बनाकर प्रशिक्षण देने की तैयारी की जा रही है.

मंत्री ने आगे कहा कि हैदराबाद में निर्माणाधीन ऐप के माध्यम से मई के प्रथम सप्ताह से ऑनलाईन प्रशिक्षण का कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा. प्रशिक्षक के रूप में विभिन्न कृषि विश्वविद्यालयों के वैज्ञानिक साधनसेवी के रूप में इस ऐप से जुड़कर प्रशिक्षक का कार्य करेंगे.

इसके लिए सर्वप्रथम ऐप को www.bameti.org से डाउनलोड कर डेस्कटॉप या मोबाईल पर इन्स्टाल करना होगा. फिर इस पर निबंधन कराना के बाद बामेती से जुड़ने के लिए यूजर आईडी एवं पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा. इसी आईडी एवं पासवर्ड के द्वारा ऐप से जुड़कर प्रशिक्षणार्थी सीधा प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे और अपना फीडबैक भी ऑनलाइन ही बामेती को भेज सकेंगे.

उन्होंने ने बताया कि इस ऐप के माध्यम से इनपुट डीलरों को जोड़कर उन्हें भी प्रशिक्षित किया जाएगा. कौशल विकास मिशन योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण कार्यक्रम हेतु श्रम संसाधन विभाग, बिहार सरकार से ऑनलाईन प्रशिक्षण के संबंध में पत्राचार किया जा रहा है. निदेशानुसार, कौशल विकास कार्यक्रम को कार्यान्वित करने हेतु पहल किया जाएगा.