बिहार: अब और भी तेज़ी से होगा कोरोना जाँच

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार में कोरोना संक्रमण रिकवरी रेट देशभर में तीसरे नंबर पर आ गया है. राज्य में रोज 1 लाख से अधिक कोरोना संक्रमण की जाँच हो रही है और अब इसमें और भी इज़ाफ़ा किया गया है.

बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वाराणसी, बक्सर एवं भागलपुर के लिए कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (CSR) के तहत उपलब्ध एक लाख एंटीजन के माध्यम से कोविड जांच के लिए टेस्टिंग व्यवस्था का शुभारंभ किया.

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के अधिकारियों के साथ नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की समीक्षा बैठक की. इसमें बिहार में संभावनाओं पर चर्चा की गई.

बैठक के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत बक्सर, भागलपुर एवं वाराणसी में “चिकित्सा-चिकित्सक आपके द्वार” कार्यक्रम के तहत लोगों को उपलब्ध कराए जा रहे चिकित्सीय परामर्श एवं जांच रिकॉर्ड को डिजिटलाइजेशन करने पर चर्चा की ताकि मौजूदा समय में तीनों जगह पर जिनको चिकित्सीय परामर्श उपलब्ध कराया जा रहा है, उनका रिकॉर्ड डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सुरक्षित रह सके.

इसके अलावा अश्विनी चौबे ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वाराणसी, बक्सर एवं भागलपुर के लिए कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत उपलब्ध एक लाख एंटीजन के माध्यम से कोविड जांच के लिए टेस्टिंग व्यवस्था का भी शुभारंभ किया. चौबे ने बताया कि इस योजना से टेस्टिंग की प्रक्रिया में तेज़ी आएगी. साथ ही टेस्टिंग की सुविधा में में बढ़ोतरी होगी.

error: Content is protected !!