शहरी क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार बाईपासों एवं फ्लाईओवरों का निर्माण हो – सीएम

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राज्य के सीएम नीतीश कुमार ने पथ निर्माण विभाग के आला अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे राज्य में “सुलभ संपर्कता” हेतु शहरी क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार बाईपासों एवं फ्लाईओवरों के निर्माण के लिए कार्य योजना बनाकर तेजी से काम करें.

वे आज मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित ‘संवाद’ में आत्मनिर्भर बिहार के सात निश्चय-2 (2020-25) के अंतर्गत सुशासन के कार्यक्रम ‘सुलभ संपर्कता’ योजना की समीक्षा कर रहे थे. इस मौके पर विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने योजना से संबंधित एक प्रेज़न्टेशन दिया. इसमें मीणा द्वारा शहरी क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार बाईपास अथवा फ्लाईओवरों के निर्माण के संबंध में विस्तृत जानकारी दी.

अपर मुख्य सचिव ने पथ निर्माण विभाग से संबंधित प्रस्तावित एम्स-नौबतपुर की सहायक टू-लेन सड़क का निर्माण, ओ0पी0आर0एम0सी0-2 (आउटपुट एण्ड परफॉरमेंस बेस्ड रोड एसेट्स मेंटेनेंस कॉन्ट्रैक्ट), रोड ओवरब्रिज (आर0ओ0बी0), प्रस्तावित दानापुर कैंट बाईपास एवं पथ निर्माण विभाग के अन्य कार्यों के संबंध में सीएम को विस्तृत जानकारी दी.

इस समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस भी शहरी क्षेत्र में बाईपासों एवं फ्लाईओवरों की आवश्यकता हो, इसके लिए कार्य योजना बनाकर तेजी से काम करें. शहर के अंदर भी सुगम और जाम-मुक्त ट्राफिक के लिए फ्लाईओवर के निर्माण के लिए आकलन कर उस पर कार्य करें. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि बाईपास पथों के चयन में इस बात का ध्यान रखें कि भूमि अधिग्रहण कम से कम हो.

आपने यह खबर पढ़ी क्यापुलिस पर गोलियाँ चलाने में माहिर बिहार का मोस्ट वांटेड दिल्ली में गिरफ्तार

सीएम ने कहा कि पथों का रखरखाव विभाग के इंजीनियरिंग विंग के द्वारा ही हो ताकि सड़कों की गुणवत्ता बनी रहे. स्मूथ ट्रैफिक, लोगों की सुरक्षा एवं हित को ध्यान में रखते हुए रेलवेलाइनों पर आर0ओ0बी0 (रोड ओवरब्रिज) के निर्माण कार्य तेजी से कराया जाय.

बैठक में उप मुख्यमंत्री श्रीमती रेणु देवी, पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडेय, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा सहित अन्य वरीय अधिकारीगण एवं अभियंतागण उपस्थित थे.