चिकन, अंडा, मटन, मछली खाना सुरक्षित – बिहार सरकार

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार सरकार ने कहा है कि लोग चिकन, अंडा, मटन और मछली खा सकते हैं. कृषि, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के सचिव डॉ० एन०सरवण कुमार ने बुधवार को प्रेस प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए बताया कि चिकन, अंडा, मटन और मछली खाने से कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं होता है.

दरअसल कोरोना (Covid-19) वायरस के फैलते संक्रमण के कारण पूरे भारत में अभी लॉकडाउन चल रहा है. लॉकडाउन के पहले से ही सोशल मीडिया में यह बात फैली थी कि मुर्गी, मछली, अंडा, मांस आदि खाना कोरोना के संक्रमण को न्योता देना है.

डॉ० एन०सरवण कुमार ने बताया कि इन चीजों के खाने से कोरोना वायरस संक्रमण का कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है. उन्होंने आगे बताया कि इनके न खाने से शरीर में प्रोटीन की कमी हो सकती है क्योंकि चिकन खाने से शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है.

सचिव ने लोगों को आगाह किया कि सोशल मीडिया में चलने वाले किसी भी फेक न्यूज के भूलावे में न आयें. उन्होंने विश्व एवं राष्ट्रीय स्तर के चुनिंदा संस्थानों के द्वारा इस संबंध में जारी सलाहों का भी हवाला दिया.

उन्होंने भारतीय चिकित्सा परिषद् (Indian Medical Council), केन्द्रीय एवियन अनुसंधान संस्थान (C.A.I.R.), पशु स्वास्थ्य के लिए विश्व संगठन (O.I.E.), भारतीय खाद्य संरक्षा और मानक प्राधिकरण (Food Safety & Standards Authority of India) आदि वैज्ञानिक संस्थानों का हवाला देते हुए कहा कि इन संगठनों ने पोल्ट्री उत्पादों का खाना जरूरी माना है.

भारत सरकार के द्वारा भी बताया गया है कि पोल्ट्री उत्पादों को कोरोना संक्रमण फैलाने में शामिल नहीं पाया गया है. अतः बिहार सरकार ने इन उत्पादों अर्थात मांस, मछली, अंडा, चिकन आदि की बिक्री को लॉकडाउन में मुक्त रखा है.

डॉ० कुमार ने बताया कि इससे संबंधित सभी दुकानों को खोलने का आदेश दिया गया है. इसी प्रकार, पशु/पक्षी चारा एवं दाना की ढुलाई एवं इससे संबंधित दुकानों को खुले रखने का आदेश भी राज्य सरकार के द्वारा जारी किया गया है.

डॉ० कुमार ने यह भी बताया कि बर्ड फ्लू, कोरोना आदि सहित सभी तरह के जीवाणु (Bacteria) एवं विषाणु (Virus) 70 डिग्री सेल्सियस तापमान पर मर जाते हैं. भारतीय घरों में हमलोग मांस, मछली को लगभग 100 डिग्री सेल्सियस से ऊपर के तापमान पर पका कर खाते हैं. ऐसी स्थिति में सभी प्रकार के वायरस नष्ट हो जाते हैं और यह खाना पूर्णतः सुरक्षित रहता है.

इसके अतिरिक्त सुधा के लगभग 400 मिल्क पार्लरों को रात्रि 08:00 बजे तक खुले रखने का भी आदेश दिया गया है.