लॉकडाउन में फारवर्ड क्लास के इन लोगों की हालत खराब – सन्नू

पटना (TBN डेस्क) | फारवर्ड क्लास के निम्नवर्गीय एवं निम्न मध्यमवर्गीय लोगों तथा अति सूक्ष्म, सूक्ष्म एवं लघु कारोबार से जुड़े लोगों, सहायता के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार से विशेष रूप से सोचने एवं उन्हें राहत पहुंचाने की जरूरत है. यह मांग अखिल भारतीय कायस्थ महासभा, बिहार प्रदेश के उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता अतुल आनंद “सन्नू” ने की है.

एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से सन्नू ने कहा कि समाज में असंख्य ऐसे लोग हैं जिनके पास न बीपीएल कार्ड है, न जन-धन खाता, ना आयुष्मान योजना कार्ड और ना हीं उज्जवला योजना का गैस. और जिनके पास ये सब नहीं है उनके हालात कैसे हैं, इसके बारे में कौन सोचेगा? उन्होंने इसपर सरकार एवं सामर्थ्यवान, दोनों से ही गंभीरता से विचार करने की मांग की.

सन्नू ने कहा है कि हमारे समाज में बहुत लोग हैं ऐसे हैं जो लॉकडाउन की वजह से पीड़ित हैं, पर समाज में लोक-लाज के कारण न किसी से कुछ कह पाते हैं और न ही सहायता की गुहार लगा पाते हैं. अति सूक्ष्म, सूक्ष्म एवं लघु कारोबार से जुड़े लोगों की हालत लॉकडाउन के कारण पतली होती जा रही है तथा वे आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. केन्द्र एवं राज्य सरकार दोनों के द्वारा इसपर भी गंभीर रूप से विचार की जरुरत है.

सन्नू ने सरकार से ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनकी सहायता के लिए ठोस एवं कारगर उपाय करने की मांग की है. साथ ही उन्होंने समाज के सामर्थ्यवान लोगों से अपील की है कि वो अपने आस पास रहने वाले ऐसे लोगों को चिन्हित कर यथासंभव उनकी सहायता करें.