दीघा-सोनपुर रेलपथ के दोहरीकरण पर अबतक 88.27 करोड़ खर्च

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| केन्द्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि दीघा-सोनपुर रेलपथ के दोहरीकरण कार्य पर अभी तक 88.27 करोड़ खर्च किया जा चुका है. शुक्रवार को राज्यसभा में सांसद सुशील मोदी के सवाल पर रेल मंत्री जवाब दे रहे थे.

रेल मंत्री ने कहा कि इस काम के लिए 2016-17 में 158.54 करोड़ की लागत की स्वीकृति दी गई थी. उन्होंने बताया कि इस काम पर वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 50 करोड़ रु. का परिव्यय मुहैय्या कराया गया है.

रेल मंत्री ने बताया कि बिहार में रेलवे इंफ्रास्ट्रक्टर व संरक्षा कार्य के लिए यूपीए के कार्यकाल 2009-14 की तुलना में एनडीए के छह वर्षों में बजट परिव्यय 1,132 करोड़ प्रतिवर्ष से बढ़ा कर 3,061 करोड़ रु.प्रतिवर्ष किया गया जो औसत वार्षिक बजट परिव्यय से 170 % अधिक है.

उनके अनुसार, वित्त वर्ष 2020-21 में इन परियोजनाओं के लिए 4,489 करोड़ मुहैय्या कराया गया था, जो यूपीए के 5 साल (2009-14) के औसत वार्षिक बजट परिव्यय से 297 % अधिक था. इसी प्रकार चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 में 5,150 करोड़ वार्षिक बजट परिव्यय उपलब्ध कराया गया है जो यूपीए की वार्षिक बजट की तुलना में 355% अधिक है.

आप यह भी पढ़ें – पर्याप्त सर्वेक्षण का बांट जोहता कोशी क्षेत्र का एकमात्र पौराणिक सूर्यमंदिर

रेल मंत्री वैष्णव ने बताया कि बिहार में एनडीए के छह वर्षों में यूपीए की 63.6 किमी/प्रतिवर्ष की तुलना में 138.29 किमी- प्रतिवर्ष की औसत दर से 317 किमी नई, 345 किमी अमान परिवर्तन तथा 306 किमी दोहरीकरण कुल 968 किमी रेल लाइन बनाये गए जो यूपीए से 117 % अधिक है.