पटना हाफ-मैराथन में 15000 लोगों के भाग लेने की संभावना

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| 27 मार्च को गांधी मैदान में होने वाली पटना हाफ-मैराथन में 15,000 से अधिक लोगों के भाग (15000 likely to take part in Patna half-marathon) लेने की उम्मीद है.

इसका आयोजन एनसीसी, बिहार-झारखंड निदेशालय और राज्य कला, संस्कृति और युवा मामलों के विभाग द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है. इसमें बिहार पर्यटन और राज्य निषेध, उत्पाद शुल्क और पंजीकरण विभाग शीर्षक प्रायोजक के रूप में और एनसीसी उड़ान (NCC UDAAN) निष्पादन भागीदार (execution partner) के रूप में है.

यह आयोजन बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में जीत के 50 साल (50 years of Bangladesh Liberation War) और भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया है.

हाफ-मैराथन तीन श्रेणियों में होगा

हाफ-मैराथन को तीन श्रेणियों में बांटा गया है – ‘सुबह 7 बजे से 21 किमी की विजय दौड़, ‘सुबह 8 बजे से 10 किमी की फ्रीडम रन और’ सुबह 9 बजे से 3 किमी की सेलिब्रेशन दौड़.

पंजीकरण शुल्क

3 किमी की दौड़ के लिए 199 रुपये, 10 किमी की दौड़ के लिए 299 रुपये और 21 किमी की दौड़ के लिए 499 रुपये का पंजीकरण शुल्क है.

यह भी पढ़ें| राज्य का विकास प्रदर्शन राष्ट्रीय औसत से बेहतर – सर्वेक्षण रिपोर्ट

एनसीसी उड़ान के अध्यक्ष धीरज कुमार ने कहा कि पटना हाफ-मैराथन का आयोजित मुंबई मैराथन की तर्ज पर किया जाएगा. हमने कुल पुरस्कार राशि के साथ-साथ उपहारों के लिए 24 लाख रुपये अलग रखे हैं. विजेताओं को दो-दो लाख रुपये दिए जाएंगे. इतनी बड़ी पुरस्कार राशि वाली मैराथन भारत में कभी आयोजित नहीं हुई. उन्होंने बताया कि इसमें भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को 1,200 रुपये का merchandise भी दिया जाएगा.

उन्होंने बताया कि गांधी मैदान से शुरू होकर मैराथन वहां लौटने से पहले पटना के बीचों बीच से गुजरेगी. बिहार के युवा, कॉलेज के छात्र, एनसीसी / एनएसएस / एनवाईकेएस / स्काउट्स एंड गाइड्स, आईएएस और बिहार राज्य सिविल सेवा, केंद्रीय पुलिस बल और बिहार राज्य पुलिस सेवाएं, भारतीय सेना, वरिष्ठ (50 से 60 वर्ष) और दिग्गजों सहित आठ उप-श्रेणियां (60 साल से ऊपर) को 10 और 21 किमी हाफ मैराथन में जोड़ा गया है.

वहीं डिजिटल पार्टनर और इवेंट कंसल्टेंट सनी अग्रवाल ने कहा, “हमने नागरिकों के बीच राष्ट्रीय गौरव को बढ़ावा देने और लोगों की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए इस आयोजन में आठ उप-श्रेणियों को शामिल किया है.”