पत्नी टल्ली रहती है मी लॉर्ड ! तलाक चाहिए…

भोपाल (TBN – The Bihar Now डेस्क)| भोपाल में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. पति अपनी पत्नी की शराब पीने की लत से परेशान है और उससे तलाक चाहता है. मजेदार बात ये है कि पति ने ही पत्नी को शराब पीने की लत लगाई, जो अब उस पर भारी पड़ रही है.

जब पत्नी टल्ली रहने लगी, तो तंग आकर शराब छोड़ने के लिए कहा. पत्नी ने भी कह दिया कि अब कंट्रोल नहीं होता. पहले पति छोड़े, तभी कोशिश कर सकती है. अब पति उससे छुटकारा पाना चाहता है. उसने कुटुम्ब न्यायालय में तलाक के लिए अर्जी दायर की है. तर्क दिया है कि शराबी पत्नी बच्चों का पालन पोषण कैसे कर सकेगी.

कुटुम्ब न्यायालय भोपाल की काउंसलर शैल अवस्थी ने बताया कि दंपती भोपाल के शाहपुरा के रहने वाले हैं. युवक ITI करने के बाद प्राइवेट जॉब करता है, जबकि महिला हाउस वाइफ है. उनकी शादी 9 साल पहले हुई थी. उनका साढ़े पांच साल का बेटा भी है.

ऐसे लगी शराब की लत

महिला ने बताया कि पति रोजाना शराब पीकर घर आते थे. तब उसी ने घर में ही शराब लाकर पीने की बात कही थी. यह बात पति मान गया. इसी बीच पति ने कहा कि घर में अकेले पीने में इंटरेस्ट नहीं आता. उसे पीने के लिए पार्टनर चाहिए. साथ देने के लिए उसने पत्नी को शराब पिलाना शुरू कर दिया.

यह भी पढ़ें – नीतीश सरकार ने कहा – अब बिना रजिस्ट्रेशन के नहीं चलेंगे कोचिंग संस्थान

बच्चे पर पड़ रहा था असर, इसलिए छोड़ने को कहा

धीरे-धीरे पत्नी को इसकी लत लग गई. वह पति से भी ज्यादा शराब पीने लगी. यही नहीं, नशे की हालत में वह हंगामा करने लगी. इससे पति परेशान हो गया. वह शराब छोड़ने के लिए उसे मनाता रहा, लेकिन वह नहीं मानी. यही नहीं, घर में शराब रखना भी बंद कर दिया, लेकिन पत्नी ऑनलाइन ऑर्डर कर महंगी शराब मंगाने लगी.

पति का कहना है कि शादी के तीन साल बाद बेटा हुआ. अब वह पांच साल का हो चुका है. तब की परिस्थिति अलग थी. अब शराबी मां अपने बच्चे को कैसे पालेगी. बच्चे पर गलत प्रभाव दिखने भी लगा है, इसीलिए पत्नी को शराब छोड़ने के लिए कहा. बार-बार कहने के बाद भी वह नहीं मानी, तो तलाक का केस दायर किया.

माता-पिता की इकलौती बेटी है महिला

महिला भी माता-पिता की इकलौती बेटी है. शराब छोड़ने के साथ ही पति ने कोर्ट में शर्त रखी है कि पत्नी मायके नहीं जाएगी. हालांकि, इस पर पत्नी ने इनकार कर दिया. उसने कहा कि मां को उसकी जरूरत है. अगर वह मदद नहीं करेगी, तो कौन करेगा. काउंसलर शैल अवस्थी ने पांच चरण की काउंसिलिंग कर दंपती को शराब छोड़ने पर राजी किया. दोनों ने शराब नहीं पीने का शपथ पत्र भी सौंपा है.

(इनपुट – डीबी)