रिया 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में, जमानत याचिका खारिज

मुंबई (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बड़ी खबर है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में रिया को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने कोर्ट से 14 दिनों की न्यायिक हिरासत की मांग की थी. रिया 22 सितंबर तक भायखला जेल में रहेंगी. वैसे रिया मंगलवार रात एनसीबी के ऑफिस में बने लॉकअप में रहेंगी. उन्हें कल सुबह जेल ले जाया जाएगा.

गौरतलब है कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को आज मंगलवार शाम को गिरफ्तार कर लिया था. एनसीबी ने यह गिरफ़्तारी लगातार तीन दिनों तक रिया से पूछताछ के बाद किया है. वैसे रिया ने एनसीबी से ड्रग्स खरीदने की बात कबूल की थी.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई सुनवाई के दौरान रिया की तरफ से उसके वकील सतीश मान शिंदे ने रिया के बेल का आवेदन कोर्ट में पेश किया. बेल पिटिशन पर दलील देते हुए रिया के वकील सतीश मान शिंदे ने कोर्ट से अपील की कि रिया ने हमेशा से एनसीबी की जांच में सहयोग किया है और आगे भी करेगी.

एनसीबी ने किया बेल का विरोध

एनसीबी ने कोर्ट में रिया के बेल का विरोध किया. इसके पहले एनसीबी के उप-महानिदेशक (DG), दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र, मुथा अशोक जैन ने प्रेस को बताया कि “हमें रिया की कस्टडी रिमांड की जरूरत नहीं है, इसलिए हम न्यायिक हिरासत की मांग करेंगे. हम रिया की कस्टडी रिमांड इसलिए नहीं मांग रहे हैं क्योंकि हम उसके साथ जो कुछ भी क्रॉस चेक करना चाहते थे, हम पहले ही कर चुके हैं”. उन्होंने कहा, “हम उनकी जमानत का विरोध करेंगे. हम केवल न्यायिक हिरासत की मांग कर रहे हैं, लेकिन हम जमानत का समर्थन नहीं करते हैं”.

बता दें कि रिया को गिरफ्तार करने के बाद नियमित मेडिकल जांच के लिए भेजा गया था. रिया का COVID-19 टेस्ट नकारात्मक आया. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के उप-महानिदेशक के अनुसार, रियाने जो कुछ भी बताया वह उसकी गिरफ्तारी के लिए पर्याप्त था. हमने उसे गिरफ्तार कर लिया है, इसका मतलब है कि हमारे पास पर्याप्त था. जैन ने कहा कि एनसीबी ने रिया से पास से कोई ड्रग नहीं पाया.

रिया ने दर्ज कराई थी सुशांत के परिजनों के खिलाफ एफआईआर

रिया चक्रवर्ती ने इससे पहले सोमवार रात को एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की बहनों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. मुंबई के बांद्रा पुलिस थाने में दर्ज एफआईआर में रिया चक्रवर्ती ने प्रियंका सिंह, डॉ. तरुण कुमार, मीतू सिंह और अन्य के खिलाफ फर्जी मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन को कई आरोप लगाए हैं. रिया ने कहा कि इसका कनेक्शन सुशांत की मौत से हो सकता है.

रिया चक्रवर्ती ने आरोप लगाया है कि सुशांत राजपूत की बहन प्रियंका सिंह ने सरकारी अस्पताल राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉ. तरुण कुमार से फर्जी मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन बनवाया. प्रिस्क्रिप्शन में प्रतिबंधित दवा शामिल थी, जो एनडीपीएस एक्ट में आती है. इन दवाओं को बिना मेडिकल चेकअप के दिया गया था, जिसके परिणामस्वरूप आत्महत्या हो सकती है.

रिया चक्रवर्ती की शिकायत पर एनडीपीएस अधिनियम की धारा 420, 464, 465, 466, 468, 474, 306, 120B, 34 IPC और r / w Sec 8 (c), 21, 22 (A), 29 के तहत मामला दर्ज किया गया है. सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार रिया का यह केस मुंबई पुलिस ने सीबीआई (CBI) को ट्रांसफर कर दिया गया है.