पत्रकार का पूरा परिवार कोविड-19 संक्रमित, 11 दिनों में 2 की मौत

नई दिल्ली/पटना (TBN रिपोर्ट) | देश में कोरोना वायरस (Covid-19 Pandemic) के संक्रमण का विकराल होते दायरे के साथ देश की राजधानी दिल्ली की हालात भी बिगड़ती जा रही है. यहां एक पत्रकार (Journalist) के परिवार के लिए कोरोना काल बन गया है.

अजय झा नाम के पत्रकार और उनके परिवार के बच्चियों सहित सभी सदस्य कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं. दर्दनाक बात यह है कि इन दस सदस्यों में से 2 की मौत पिछले 11 दिनों में कोरोना संक्रमण के कारण हो चुकी है. कोविड-19 के संक्रमण से जूझ रहे पत्रकार ने एक वीडियो शेयर कर अपना दर्द बयां किया है.

अजय की पत्नी भी एक पत्रकार हैं. अजय के वीडियो के अनुसार उनके परिवार के सभी सदस्य कोविड-19 से संक्रमित हो गए हैं. उन्होंने इस वीडियो में कहा कि उनके परिवार को मदद की जरूरत है. अजय के इस वीडियो को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को शेयर किया है.

राहुल गांधी का ट्वीट

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘अजय जैसे मेरी लाखों बहनों और भाइयों के लिए हम आपके दर्द को साझा करते हैं. हम आपकी रक्षा के लिए सब कुछ करेंगे. हम मिलकर इसे दूर करेंगे.’

अजय झा, जों दो बच्चियों के पिता हैं, अभी होम क्वारंटीन में रह रहे हैं. उन्होंने अपने वीडियो के द्वारा बताया कि उनके परिवार में एक सदस्य की मौत हो जाने के काफी वक्त बाद प्रशासन की तरफ से शव उठाया गया.

वीडियो में अपनी दर्दनाक आपबीती सुनाते हुए अजय ने कहा हैं कि उनके घर में सभी लोग वायरस से संक्रमित हैं जिसमें उनकी पत्नी और दो बेटियां भी हैं. पिछले 10 दिनों में उनके परिवार में कोरोना संक्रमण के कारण 2 लोगों की मौत हो चुकी है.

अजय ने वीडिओ में बताया है कि उनके ससुर की तीन दिन पहले ही मौत हो गई. उसके बाद उनके सास की भी कोविड-19 संक्रमण से मौत हो गई. उन दोनों के अंतिम संस्कार के लिए उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी. उन दोनों की बॉडी को काफी वक्त तक घर में ही रखना पड़ा, क्योंकि वायरस के डर से लोग एक दूसरे पर जिम्मेदारी टालते रहे. प्रशासन मदद मांगने के बहुत बाद आई.

पत्रकार ने अपने वीडियो संदेश में दिल्ली की केजरीवाल सरकार के दावों पर भी सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा, ‘कोरोना वायरस को लेकर केजरीवाल और बाकी सरकार दावा कर रही है कि अस्पतालों व अन्य स्थानों पर सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं, लेकिन सच्चाई दावों को गलत बता रही हैं. यहां लोग भगवान भरोसे ही जी रहे हैं.