केंद्र सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, कहा कृषि कानूनों के खिलाफ तेज करेंगे आंदोलन

नई दिल्ली TBN – The BIhar Now डेस्क)| केंद्र सरकार द्वारा रखे गए कृषि कानूनों के प्रस्तावों को किसानों ने खारिज कर दिया है. बता दें, केन्द्र सरकार ने अपने प्रस्ताव में एमएसपी (MSP) खत्म नहीं होने समेत अन्य मुद्दों पर अपनी बात रखी थी.

इधर संवाददाता सम्मेलन में किसान नेताओं ने फिर कहा कि यदि केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि कानून रद्द नहीं किये गए तो वे दिल्ली की सभी सड़कों को एक के बाद एक बंद करेंगे.

आप यह भी पढ़ें – बिहार के IPS अधिकारी को ड्यूटी उपेक्षा के लिए किया गया ‘दंडित’

”पूरे देश में रोज प्रदर्शन होगा. पंजाब, हरियाणा, यूपी, राजस्थान और मध्य प्रदेश में 14 तारीख को धरने लगाए जाएंगे. जो धरने नहीं लगाएगा वो दिल्ली को कूच करेगा. 12 तारीख को जयपुर-दिल्ली हाईवे पर रोक लगाया जाएगा.”

संवाददाता सम्मेलन में किसान नेता ने कहा कि 12 तारीख को एक दिन के लिए पूरे देश के टोल प्लाज़ा फ्री कर दिए जाएंगे. वहीं किसान नेता शिव कुमार कक्का ने कहा कि, हम 14 दिसंबर को राज्यों में जिला मुख्यालयों का घेराव करेंगे, दिल्ली-जयपुर राजमार्ग 12 दिसंबर तक बंद करेंगे.

दूसरी तरफ राहुल गांधी, शरद पवार समेत पांच विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने का अनुरोध किया. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि, ‘ये किसान विरोधी बिल है जिन्हें पास किया गया है. अगर ये कानून किसानों के हक में है तो फिर किसान सड़कों पर क्यों हैं?’

किसानों की यह है चिंता

उल्लेखनीय है कि केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ बड़ी संख्या में किसान दिल्ली से लगी सीमाओं पर कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे किसानों को आशंका है कि नए कानूनों से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की व्यवस्था खत्म हो जाएगी. वहीं, सरकार का कहना है कि एमएसपी जारी रहेगी. प्रदर्शन कर रहे किसानों का दावा है कि ये कानून उद्योग जगत को फायदा पहुंचाने के लिए लाए गए हैं.
(इनपुट आरभारत)

error: Content is protected !!