नीतीश द्वारा पुणे हादसे से मारे गए बिहारी मजदूरों के परिजनों को मुआवजे की घोषणा

फाइल फ़ोटो

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar Chief Minister Nitish Kumar) ने शुक्रवार को पुणे में एक निर्माणाधीन इमारत ढहने (under-construction building collapsed in Pune) के बाद अपनी जान गंवाने वाले बिहार के मजदूरों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि (Ex-gratia of Rs 2 lakh each to the kin of the labourers of Bihar killed in an under-construction building collapsed in Pune) देने की घोषणा की. घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजा दिया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर लिखा, “पुणे, महाराष्ट्र में दुर्घटना में मारे गए बिहार के मजदूरों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से प्रत्येक को 2-2 लाख रुपये का अनुग्रह अनुदान और हादसे में घायल हुए बिहार के लोगों को 50-50 हजार रुपये का अनुदान दिया जाएगा.”

नीतीश कुमार ने इस दुर्घटना में कटिहार के पांच मजदूरों के निधन पर भी शोक व्यक्त किया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की. उन्होंने ट्वीटर पर हिन्दी में लिखा, “महाराष्ट्र के पुणे के मॉल में लोहे की जाली गिरने से हुआ हादसा दुःखद। हादसे में बिहार के कटिहार के 5 मजदूरों की मृत्यु की जानकारी प्राप्त हुई है, शोक संतप्त परिवारों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की ईश्वर शक्ति प्रदान करें। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना है.”

उधर, स्थानीय पुलिस ने कहा कि पुणे में एक निर्माणाधीन इमारत का ढांचा गुरुवार देर रात ढह गया, जिससे पांच मजदूरों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील गिलबाइल (Sunil Gilbile, Chief Fire Officer) ने कहा, “लोहे की छड़ों की एक संरचना के नीचे काम कर रहे दस मजदूर संरचना के अचानक गिरने से फंस गए.”

यह भी पढ़ें| घायल मासूम ने कहा – छत पर कपड़े सूखाने गई थी, युवक ने मुझे घूरा और उठाकर नीचे फेंक दिया

प्राथमिक जांच से पता चलता है कि घटना स्थल पर एहतियाती उपायों की कमी के कारण यह दुर्घटना हुई. पुणे पुलिस के पुलिस उपायुक्त रोहिदास पवार (Rohidas Pawar, Deputy Commissioner of Police, Pune Police) ने कहा, “5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो गंभीर रूप से घायल हो गए. वहीं तीन को मामूली चोटें आई हैं. प्राथमिक रिपोर्ट से पता चलता है कि इस स्थल पर एहतियाती उपाय नहीं किए गए हैं.”

इससे पहले शुक्रवार को आयुक्त अमिताभ गुप्ता (Commissioner Amitabh Gupta) ने बताया कि पुणे पुलिस ने एक ठेकेदार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है और पांच मजदूरों की मौत के मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया है.