लापरवाही: हॉस्पिटल ने 22 साल के युवक के बदले 65 साल के बुजुर्ग का दिया शव

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | कोरोना काल के बीच डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है. इलाज के दौरान हॉस्पिटल में एक 22 साल के युवक की मौत हो गई, लेकिन डॉक्टरों ने परिजनों को 65 साल के एक बुजुर्ग का शव सौंप दिया. इस लापरवाही के बाद एक डॉक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है. यह मामला मध्य प्रदेश के रीवा का है.

परिजनों ने शव लेने से किया इनकार

हॉस्पिटल के लापरवाही के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया और दूसरे का शव लेने से इनकार कर दिया. मृतक युवक के पिता ने आरोप लगाया कि इस तरह की लापरवाही हो रही है इससे लगा रहा है कि मेरे बेटे का शव किसी और को सौंप दिया हो या हॉस्पिटल प्रबंधन लावारिश मान कर दफना दिया होगा.

कोविड सेंटर के पास कोई जवाब नहीं

पिता ने कहा कि तबीयत खराब होने के बाद बेटे को 3 अगस्त को आईसीयू में भर्ती कराया गया था. बाद में उसे डॉक्टरों ने कोविंड सेंटर में रेफर कर दिया. इसके बाद डॉक्टरों ने कोई जानकारी नहीं दी. जब डॉक्टरों से जानकारी मांगी गई तो कहा कि मॉर्चरी में शव की देख लिजिए. युवक का नाम का शव पर टैग लगा था, जब देखा तो शव एक बुजुर्ग का था. इससे नारज परिजनों ने शव लेने से इनकार कर दिया है. अधिकारियों से इसकी शिकायत की. पिता ने कहा कि हॉस्पिटल प्रबंधन शव को दफना कर खामोश हो गया है.