कंगना रनौत को धमकी देनेवाला शिवसेना विधायक गिरफ्तार हो: NCW चीफ

नई दिल्ली / पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्षा रेखा शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि शिवसेना विधायक प्रताप सरनायक की अभिनेत्री कंगना रनौत के लिए धमकी बेहद आपत्तिजनक है और वह महाराष्ट्र के डीजीपी को लिखेंगे कि वह उन्हें गिरफ्तार करें.

अध्यक्षा ने कहा कि मुझे न्यूज एजेंसी एएनआई से जानकारी मिली कि शिवसेना विधायक प्रताप सरनायक ने कंगना रनौत को धमकी दी है और कहा है कि अगर कंगना रनौत मुंबई में प्रवेश करती है तो उसे पीटा जाएगा और अभिनेत्री का पैर तोड़ दिया जाएगा. ये बेहद आपत्तिजनक बयान हैं. मैं इस पर स्वतः संज्ञान लेने जा रही हूं और महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक को कार्रवाई करने और इस आदमी को गिरफ्तार करने के लिए लिखूंगी.“

रेखा शर्मा ने न्यूज एजेंसी को बताया कि कंगना के किसी भी ट्वीट में ऐसा नहीं लगा कि वह देशद्रोही है या किसी व्यक्ति को धमकी दे रही है. इससे शिवसेना नेताओं की विचारधारा का पता चलता है कि अगर महिला स्वतंत्रता की बात कर रही है, तो वे उन्हें बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं.

इससे पहले शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के अध्यक्ष रामदास अठावले ने शिवसेना विधायक द्वारा अभिनेत्री को धमकाने और कंगना रनौत को वापस मुंबई नहीं आने के लिए कहने पर राज्यसभा में शिवसेना सांसद संजय राउत पर प्रहार किया.

न्यूज एजेंसी से बात करते हुए अठावले ने कहा कि वे पूरी सच्चाई नहीं जानते लेकिन अगर शिवसेना के विधायक ने अभिनेत्री को धमकी दी है तो यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. अठावले ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने की लड़ाई में हम सभी रानौत और परिवार के साथ हैं.

इससे पहले गुरुवार को अभिनेत्री ने ट्विटर पर दावा किया कि संजय राउत, शिवसेना नेता ने मुझे एक खुली धमकी दी है और मुझे मुंबई वापस नहीं आने के लिए कहा है. अज़ादी के बाद अब मुंबई की सड़कों पर खुली धमकी मुंबई को पीओके (Pak Occupied Kashmir) जैसा महसूस करवा रही है.

कंगना ने कहा कि एक प्रमुख स्टार के मारे जाने के बाद मैंने ड्रग और मूवी माफिया रैकेट के बारे में बात की. मुझे मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है क्योंकि उन्होंने एसएसआर (SSR’s) की शिकायतों को नजरअंदाज कर दिया. एसएसआर ने सभी को बताया कि वे उसे मार देंगे, फिर भी वह मारा गया. कंगना ने कहा कि अगर मैं असुरक्षित महसूस करती हूँ तो इसका इसका मतलब यह नहीं है कि मुझे इंडस्ट्री और मुंबई से नफरत है.