मुलायम की हालत नाजुक, जीवन रक्षक दवाओं पर

लखनऊ / नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की हालत लगातार पांचवें दिन ‘गंभीर’ (Samajwadi Party Supremo Mulayam Singh Yadav’s condition critical) बताया गया. यह बात गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital in Gurugram) के डॉक्टरों ने बताई. डॉक्टरों के अनुसार मुलायम यादव को ‘जीवन रक्षक दवाओं’ पर रखा गया है.

गुरुग्राम में मेदांता के चिकित्सा निदेशक डॉ संजीव गुप्ता (Dr. Sanjeev Gupta) ने गुरुवार दोपहर जारी एक बयान में कहा, “मुलायम सिंह यादव की हालत गंभीर है और वह अभी भी जीवन रक्षक दवाओं पर हैं. विशेषज्ञों की एक व्यापक टीम द्वारा गहन चिकित्सा इकाई में उनका इलाज किया जा रहा है.”

सूत्रों ने कहा कि मुलायम ‘कंटिन्यूअस रीनल रिप्लेसमेंट थेरेपी’ (continuous renal replacement therapy) पर हैं क्योंकि डॉक्टरों ने उनकी मौजूदा स्थिति के लिए लगातार डायलिसिस (dialysis) को अनुपयुक्त पाया. मुलायम (82 वर्ष) को सांस फूलने की शिकायत के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था और 2 अक्टूबर को अस्पताल में भर्ती होने के दौरान किडनी में संक्रमण का पता चला था.

बताते चलें, बुधवार को राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Rashtriya Janata Dal chief Lalu Prasad Yadav) और उनके बेटे और बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव (Bihar deputy CM Tejashwi Yadav) ने मेदांता अस्पताल का दौरा किया था और मुलायम के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने के लिए यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव से मुलाकात (former UP CM Akhilesh Yadav) की थी.

हरियाणा के मुख्यमंत्री (Haryana chief minister) मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने भी मुलायम के स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में अपडेट के लिए अखिलेश यादव से अस्पताल जाकर बात की थी. सपा के वरिष्ठ नेता सुधीर पुनवार ने भी गुरुवार को अखिलेश से अस्पताल में मुलाकात की.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक निजी चैनल से बातचीत में बताया कि नेताजी के स्वास्थ्य में हल्का सुधार है. नेताजी की तबियत में सुधार हो रहा है और पहले के मुकाबले उनकी सेहत में अब सुधार है.

उधर, पार्टी द्वारा मना किये जाने के बावजूद मुलायम के समर्थक मेदांता अस्पताल पहुंच जा रहे हैं. एक समर्थक तो अस्पताल के बाहर अखिलेश यादव को देखकर फूट-फूटकर रोने लगा और कहा कि भैया नेताजी को बचा लीजिये. समर्थकों को रोता देख अखिलेश यादव भावुक हो गए. अखिलेश ने सबको ढांढ़स बंधाते हुए कहा कि नेताजी ठीक हो जाएंगे.