पुलिस पर गोलियाँ चलाने में माहिर बिहार का मोस्ट वांटेड दिल्ली में गिरफ्तार

दिल्ली / पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| रविवार देर रात बिहार पुलिस ने दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के साथ मिलकर बिहार का मोस्ट वांटेड अपराधी आदित्य तिवारी को गिरफ्तार किया है. वह पिछले 1 साल से अधिक समय से फरार था. उसके पास से 5 लाइव कारतूस के साथ .32 का अर्ध-स्वचालित पिस्तौल बरामद किया गया.

गिरफ्तार आदित्य तिवारी बिहार के गोपालगंज व पटना समेत आसपास के जिलों में मर्डर, डकैती, जबरन वसूली, हत्या के प्रयास आदि के 16 आपराधिक मामलों में वांटेड था. उसे पुलिस ने रजोकरी फ्लाईओवर, गुरुग्राम-कापसहेड़ा लिंक रोड से गिरफ्तार किया. पुलिस सूत्रों के अनुसार, आदित्य पुलिस पर गोलियाँ चलाने में माहिर है.

बिहार पुलिस ने आदित्य तिवारी पर 50 हजार का इनाम रखा था. बिहार में पुलिस के अत्यधिक दबाव के कारण उसने दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) को पिछले चार महीनों से अपना ठिकाना बना लिया था. यहां वह अपना नाम बदलकर अलग-अलग जगहों पर अपना शिकार और अड्डा बनाने की तलाश में भटक रहा था.

24 वर्षीय आदित्य तिवारी गोपालगंज जिले का रहने वाला है और कम समय में उसने अपने सहयोगी मनीष के साथ मिलकर गोपालगंज में काफी आतंक फैला रखा था. उनके खिलाफ फिरौती के लिए अपहरण, रंगदारी, मर्डर, मर्डर का प्रयास, पुलिसवालों पर हमला, लूटपाट, डकैती जैसे संगीन अपराध के लगभग 26 केस दर्ज हैं. इनमें 16 मामलों को उसने पिछले 5 महीनों में अंजाम दिया था.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि आदित्य ने अपने सहयोगी मनीष के साथ मिलकर गोपालगंज के एक अस्पताल के डॉक्टर मालिक से 20 लाख रंगदारी की मांग की थी. डॉक्टर द्वारा पुलिस में मामला दर्ज कराने और सुरक्षा मिलने के बावजूद आदित्य ने अपने गुर्गे के साथ दिनदहाड़े उनके अस्पताल पर हमला कर दिया था.

जाओ SHO को भी यह ऑडियो मैसेज सुनवा दो

यह बदमाश दिल्ली में रहकर बिहार के व्यापारियों और अमीर लोगों से रंगदारी मांगता था. इसके लिए वह अपने शिकार को वॉयस मैसेज भेजकर रंगदारी मांगा करता था. इसी कड़ी में आदित्य ने बिहार के एक बिजनेसमैन को धमकाकर उससे फिरौती वसूलने के लिए एक “ऑडियो-मैसेज” भी भेजा था. मैसेज में रिकॉर्ड करके भेजा गया था कि, “अगर तुमने वक्त पर रकम नहीं पहुंचाई तो हम तुम्हें भून डालेंगे. जाओ हमारा यह ऑडियो मैसेज विशंभरपुर थाना जिला गोपालगंज (बिहार) के एसएचओ दारोगा दिनेश कुमार यादव को भी जाकर सुनवा दो.”

बता दें कि आदित्य ने गोपालगंज में अपना एक अस्पताल खोल रखा है. वह मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित एक नामी संस्थान से मेडिकल की डिग्री भी लेने की फिराक में था.

error: Content is protected !!