‘द कश्मीर फाइल्स’ पर फिर भड़के मांझी, कहा- कश्मीर बिहारियों को सौंप दो, सब ठीक हो जाएगा

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कश्मीर में एक बार फिर पंडितों (Kashmiri Pandits) की लगातार हो रही हत्याओं पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक जीतन राम मांझी (National President of HAM party, Jitan Ram Manjhi) ने ट्विटर के जरिए बड़ा बयान दिया है. मांझी ने मशहूर फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ (The Kashmir Files) पर निशाना साधते हुए कहा है कि अगर कश्मीर को शांत करना है तो इसे बिहारियों के हवाले कर देना चाहिए.

पूर्व मुख्यमंत्री ने ये बातें ट्वीट (Tweet of Jitan Ram Manjhi) कर कहीं. जीतन राम मांझी ने 18 मार्च के अपने ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए लिखा कि हमने पहले कहा था कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म एक आतंकवादी साजिश है, जिससे कश्मीर में डर और दहशत का माहौल बनाया जा रहा है. कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं ने मेरी बात को सही साबित किया है. बस इतना ही कहूंगा कि कश्मीर को शांत करना है तो हम बिहारियों को सौंप दें, सब ठीक हो जाएगा.

बता दें, कश्मीर में एक बार फिर पंडितों को लगातार निशाने पर लेकर उनकी हत्या की जा रही है. इस कारण वहां से बड़े पैमाने पर पंडितों का पलायन शुरू हो गया है. कश्मीरी पंडितों में डर और खौफ एक बार फिर फैलने से लगा है.

मांझी ने उठाई थी फिल्म यूनिट की जांच की मांग

बता दें, इससे पहले 18 मार्च को पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया था कि ‘कश्मीर फाइल्स’ आतंकवादी भी एक गहरी साजिश हो सकते हैं, जिसे दिखाकर आतंकवादी संगठन कश्मीरी ब्राह्मणों में भय और भय का माहौल पैदा कर रहे हैं ताकि कश्मीरी ब्राह्मण फिर से डर जाएंगे. उनमें यह डर बैठ जाएगा कि कश्मीर वापस मत जाओ.

उस वक्त जीतन राम मांझी ने मांग की थी कि सरकार ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म यूनिट के सदस्यों के आतंकी कनेक्शन की जांच कराए.

कश्मीर में आतंकियों ने बिहार के एक मजदूर की ली जान

बताते चले, कश्मीर में एक बार फिर से आतंकी घटनाएं बढ़ने लगी हैं. अफसरों से लेकर मजदूर तक आतंकियों के निशाने पर हैं. ताजा घटनाक्रम के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने बिहार के वैशाली जिले के एक मजदूर की हत्या कर दी है. गृह मंत्री अमित शाह कश्मीर के घटनाक्रम को लेकर राज्यपाल मनोज कुमार सिन्हा से चर्चा करने जा रहे हैं. ऐसे में सियासत भी तेज हो गई है. इस पूरे मामले को लेकर राजनीतिक दल अलग-अलग तरीकों से बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं.