लोकपाल सदस्य न्यायमूर्ति अजय कुमार त्रिपाठी का निधन

स्व ० जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी

नई दिल्ली / पटना (TBN रिपोर्ट) | लोकपाल सदस्य न्यायमूर्ति अजय कुमार त्रिपाठी का निधन शनिवार को COVID-19 संक्रमण के कारण राष्ट्रीय राजधानी में हो गया. छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के 62 वर्षीय पूर्व मुख्य न्यायाधीश ने पिछले महीने वायरस के संक्रमण के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था और उन्हें 2 अप्रैल को एम्स में भर्ती कराया गया था. देश में कोरोना वायरस के कारण हुई यह पहली हाईप्रोफाइल मौत है.

त्रिपाठी (62) ने रात करीब 8 बजे अंतिम सांस ली. छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश अजय कुमार त्रिपाठी एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती थे. एक सूत्र के अनुसार बहुत बीमार होने के कारण वे पिछले तीन दिनों से आईसीयू में थे और वेंटिलेटर पर थे.

बताते चलें, न्यायमूर्ति अजय कुमार त्रिपाठी को पिछले साल 23 मार्च को लोकपाल का न्यायिक सदस्य नियुक्त किया गया था.

अक्टूबर 2006 में पटना उच्च न्यायालय में अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त किए जाने से पहले उन्होंने बिहार में अतिरिक्त महाधिवक्ता के रूप में कार्य किया था. उन्होंने जुलाई 2018 में छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का पद ग्रहण किया गया था.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दुख व्यक्त किया

छतीसगढ़ हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश व सदस्य,लोकपाल न्यायमूर्ति अजय कुमार त्रिपाठी का शनिवार को एम्स, दिल्ली में निधन होने पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने गहरा दुख व्यक्त किया है. मोदी ने कहा कि उनका निधन वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण के कारण इलाज के दौरान हुआ. न्यायमूर्ति त्रिपाठी से उनका सम्बन्ध बिहार के कुचर्चित चारा घोटाले के दौर से था. न्यायमूर्ति रहते हुए भी शहर का कोई ऐसा सांस्कृतिक समारोह नहीं होता, जिसमें वे शामिल नहीं होते थे.

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी मृत्यु से उन्होंने अपना परम् मित्र खो दिया है तथा जस्टिस त्रिपाठी का निधन न्याय जगत के लिए भी अपूरणीय क्षति है.