रैली में मुस्लिमों ने कहा- उन्हें इजाजत दी जाए तो लाहौर में तिरंगा फहरा देंगे

देहरादून (TBN – The Bihar Now डेस्क)| देहरादून में जुटे हजारों मुस्लिम ने कहा कि यदि उन्हें इजाजत दी जाए तो वे लाहौर में तिरंगा फहरा देंगे. यह बात रविवार सुबह शहर के पुराने बस स्टैंड पर आयोजित हुई जन आक्रोश रैली में मुस्लिम नेता नईम कुरैशी ने कही.

इस जन आक्रोश रैली में हजारों की संख्या में मुस्लिम पहुंचे थे. इस रैली में नईम कुरैशी ने कहा कि जो लोग देश से चले जाने की बात कहते हैं उन्हें बता दें कि यदि हमें इजाजत दी जाए तो वह लाहौर में तिरंगा फहरा देंगे.

गाय को ‘राष्ट्रीय पशु’ घोषित करने की हुई मांग

इसके साथ ही नईम कुरैशी ने कहा कि हिन्दुस्तान में इस वक्त धर्म नहीं बल्कि देश एवं लोकतंत्र को बचाने की जरूरत है. मुसलमानों की आवाज शहीदों एवं गांधी की आवाज है. इस रैली में मौलाना कलीम सिद्दीकी की रिहाई और गाय को ‘राष्ट्रीय पशु’ घोषित करने की मांग की गई.

इस रैली में आए मुस्लिम नेताओं ने कहा कि वह लोकतंत्र को बचाने के लिए देशभर में रैलियां करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पहले हमने मुल्क के खातिर खून दिया है, आपके लिए भी दे देंगे. अगर कोई आंखे दिखाकर एक जाति के नाम पर कुछ करेगा तो हम लाल आंखे दिखाना भी जानते हैं. आपके पास भी दो हाथ हैं और हमारे पास भी दो हाथ है. आप ‘गाय को राष्ट्र पशु’ भी घोषित करो देश का हर मुस्लिम आपके साथ है.

यह भी पढ़ें| शाहरुख खान के बेटे को NCB ने किया गिरफ्तार, ड्रग रखने और सेवन करने का है आरोप

मुस्लिम समुदाय की जन आक्रोश रैली के लिए सुरक्षा व्यवस्था का ध्यान रखते हुए मौके पर फोर्स भी तैनात रही. वहीं इस दौरान संगठन के अध्यक्ष मुफ्ती रईस अहमद कासमी, शहर काजी मौलाना मोहम्मद अहमद कासमी, संरक्षक जावेद खान, आसिफ हुसैन, उपाध्यक्ष आकिब कुरैशी, महासचिव अर्जेतशा सद्दाम हुसैन, महताब, लताफत हुसैन, निजाकत अली, शाकेब कुरैशी, पार्षद इतात खान, रमीज राजा, दानिश कुरैशी, वसीम कारगी, फरहान, नाजिश, नासिर, कलीम, इरशाद, नूर आलम, उमर हाशिम आदि मौजूद रहे.