इरफान का ‘कारवां’ गया गुजर, तुम बहुत याद आओगे

पटना / मुंबई (TBN रिपोर्ट) | हरदिल अजीज फिल्म अभिनेता इरफान खान का बुधवार को निधन हो गया. मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली. 54 वर्षीय अभिनेता को मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में एक बृहदान्त्र (colon) संक्रमण के कारण भर्ती कराया गया था और वे वहाँ ICU (आईसीयू) में भर्ती थे, जैसा कि मंगलवार को आईएएनएस (IANS) ने बताया था.

इरफान काफी लंबे वक्त से बीमार थे. दो साल पहले मार्च 2018 में इरफान को न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर (Neuro Endocrine Tumour) नामक बीमारी का पता चला था. विदेश में इस बीमारी का इलाज कराकर इरफान खान ठीक हो गए थे. भारत लौटने के बाद इरफान खान ने अंग्रेजी मीडियम में काम किया था. किसे पता था ये फिल्म इरफान की जिंदगी की आखिरी फिल्म साबित होगी.

सबसे पहले फिल्म डायरेक्टर शूजीत सरकार ने इरफान खान के निधन की जानकारी दी, उसके बाद अस्पताल की ओर से बयान जारी किया गया. अस्पताल के बयान के मुताबिक, इरफान खान पेट की समस्या से जूझ रहे थे, उन्हें Colon infection हुआ था.

संयोग ऐसा कि इरफान की मां सईदा बेगम का पिछले शनिवार को जयपुर में निधन हो गया था, जहां वह रहती थीं. हालांकि लॉकडाउन के कारण अभिनेता शारीरिक रूप से अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके थे और उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपनी अम्मी को अंतिम सम्मान दिया था. मां के निधन के कुछ दिन बाद ही इरफान खान को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था. शायद माँ के निधन से वो अंदर से काफी मर्माहित और सदमे में थे.

23 फरवरी 1995 को, इरफान खान ने राइटर और साथी एनएसडी (NSD) स्नातक सुतापा सिकदर (Sutapa Sikdar) से शादी की. उनके दो बेटे थे, बाबिल और अयान.