बिहार डीजीपी के कड़े रुख के बाद बीएमसी ने विनय तिवारी को किया मुक्त

मुंबई/पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मिस्ट्री की जांच के लिए मुम्बई गए आईपीएस अधिकारी, पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को बीएमसी ने क्वारंटाइन से मुक्त कर दिया है. एक आईपीएस अधिकारी को जबरन क्वारंटाइन किये जाने की इस घटना पर सर्वोच्च न्यायालय ने अफसोस जताया था. साथ ही बिहार के डीजीपी ने भी इस पर कड़ा रुख अख्तियार कर लिया था.

सुशांत सिंह मामले की जांच सीबीआई द्वारा अपने नियंत्रण में लेने के बाद गुरुवार को पटना पुलिस की चार सदस्यीय जांच दल मुम्बई से वापस बिहार लौट आई है.

इधर पटना सिटी एसपी विनय तिवारी को क्वारंटाइन से मुक्त करने के लिये पटना के आईजी द्वारा बुधवार को लिखे पत्र को बीएमसी मुंबई ने खारिज कर दिया था. इसके बाद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने सख्त रूख अख्तियार कर लिया था.

बताते चलें कि डीजीपी के आदेश पर एडीजी (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने भी बुधवार को बीएमसी को पत्र लिखा था. एडीजी ने बीएमसी के कमिश्नर इकबाल सिंह चहल को दो पेज का पत्र लिख कर आईपीएस अधिकारी को क्वारंटीन से मुक्त करने का आग्रह किया था. एडीजी ने आईपीएस अधिकारी को होम क्वारंटीन किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट के टिप्पणी का उल्लेख किया था.

गौरतलब है कि कि सुशांत सिंह मामले में सीबीआई और ED ने अपनी जांच शुरू कर दी है. गुरुवार को सीबीआई ने इस मामले में रिया चक्रवर्ती सहित 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है. इस जांच में सीबीआई द्वारा गठित SIT की टीम को गुजरात केडर के आईपीएस मनोज शशिधर हेड कर रहे हैं.

Advertisements