7 फरवरी से राज्य के सभी स्कूल-कॉलेज खुलने को तैयार, 5 फरवरी को होगा फैसला

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थान (Educational Institution may open from 7th February) आगामी 7 फरवरी से खुल जाने की संभावना है. हालांकि इसको लेकर अंतिम फैसला राज्य सरकार द्वारा गठित आपदा प्रबंधन समूह की बैठक (Disaster Management Group meeting) में लिया जाएगा. इस बात की पुष्टि राज्य के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay kumar Chaudhary) ने मंगलवार को की है.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मामले कम होने से शिक्षा विभाग सभी शिक्षण संस्थानों को खोलने को तैयार है. इसके तहत सात फरवरी से प्राइमरी से लेकर हायर सेकेंड्री (Higher Secondary) और कॉलेज खुल जाएंगे. शत प्रतिशत बच्चे और शिक्षक हो सकेंगे उपस्थित.

उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों में ऑफलाइन क्लास (Offline Class) की व्यवस्था फिर से बहाल होगी. माना जा रहा है कि इस समूह की बैठक मुख्य सचिव की अध्यक्षता में 5 फरवरी को होगी क्योंकि कोरोना संक्रमण को लेकर राज्य सरकार का वर्तमान दिशा-निर्देश 6 फरवरी तक के लिए प्रदेश में लागू है. फिलहाल राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थान तो बंद हैं लेकिन उनके दफ्तर 50 फीसदी उपस्थिति के साथ संचालित हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें| 2022-23 बजट की मुख्य बातें

सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार का शिक्षा विभाग बच्चों के लर्निंग लॉस को देखते हुए प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक तक के विद्यालयों को अब पूरी तरह खोल देने के पक्ष में है. यदि 7 फरवरी से विद्यालय संचालित होते हैं तो 30 दिनों बाद तथा नए साल में पहली बार स्कूली बच्चे बस्ता लेकर विद्यालयों में जायेंगे.

बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए 6 जनवरी से सभी शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया गया था. इसके बाद से स्कूलों में ऑनलाइन एजुकेशन के माध्यम से छात्रों की पढ़ाई करवाई जा रही है.