न्यू एनर्जी के दम पर अगले 20 वर्षों में भारत बनेगा सुपरपॉवर- मुकेश अंबानी

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Reliance Industries Chairman Mukesh Ambani) ने कहा है कि अगले दो दशकों में भारत न्यू एनर्जी के दम पर ग्लोबल पॉवर का दर्जा हासिल कर लेगा. अंबानी 23 से र25 फरवरी तक चलने वाले “एशियन इकोनॉमिक डायलॉग 2022” (Asian Economic Dialogue 2022) को संबोधित कर रहे थे.

पुणे इंटरनेशनल सेंटर के प्रेसीडेंट रघुनाथ माशेलकर (Raghunath Mashelkar, President, Pune International Center) से बातचीत के क्रम में मुकेश अंबानी ने कहा कि अगले दो दशकों में 20 से 30 भारतीय एनर्जी कंपनिया रिलायंस जितनी बड़े होने का दम रखती हैं.

अंबानी ने कहा कि “न्यू एनर्जी में दुनिया का निर्धारण एक बार फिर से करने की ताकत है. जैसे जब लकड़ी को कोयले में बदला गया तब यूरोप ने भारत और चीन को पीछे छोड़ दिया था. उसी तरह तेल से अमेरिका और पश्चिम एशिया के देश कहीं आगे निकल गए.

उन्होंने आगे कहा कि अब भारत का वक्त है जब भारत ग्रीन और क्लीन एनर्जी (Green and Clean Energy) में आत्मनिर्भर होगा उसका निर्यात करेगा, तो भारत को एक वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने से कोई नही रोक सकता. ग्रीन एनर्जी से भारत न सिर्फ ग्लोबल पॉवर (global power) बनेगा बल्कि रोजगार भी पैदा करेगा. इससे फॉरेन एक्सचेंज (foreign exchange) की भी बचत होगी.

यह भी पढ़ें| मनी लॉड्रिंग मामले में महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक को ईडी ने किया गिरफ्तार

प्रधानमंत्री के विजन का जिक्र करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा कि मोदी (PM Narendra Modi) न्यू व क्लीन एनर्जी के बहुत बड़े समर्थक हैं. भारत ग्रीन एनर्जी एक्सपोर्ट करेगा इसमें मुझे कोई शक नही क्योंकि सरकार ने न्यू एनर्जी के लिए अपने दरवाजे खोल दिए है. ऐसी नीतियां लाई गई है जो इसे सपोर्ट करती हैं.

अंबानी ने कहा कि जिस तरह भारत आईटी सेक्टर का सुपर पॉवर है वैसे ही भारत रिन्यएबल एनर्जी (India will become world power in renewable energy too) का भी वर्ल्ड लीडर बनेगा. अगले 20 वर्षों में भारत से क्लीन और ग्रीन एनर्जी का निर्यात आधा ट्रिलियन डॉलर होने की संभावना है. भारत रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में निवेश के लिए भारत दुनिया का सबसे पंसदीदा देश है.

(इनपुट-विज्ञप्ति)