पंचायतों और ब्लॉक में कार्यपालक सहायकों के लिए वैकेन्सी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार में नई सरकार के गठन के बाद बेरोजगारों को सरकारी नौकरी देने को लेकर युद्ध स्तर पर काम शुरू है. सरकार ने सभी विभागों के प्रधान सचिवों को पत्र लिखकर खाली स्थानों की जानकारी मांगी है. इसी संदर्भ में अब पंचायती राज विभाग ने सभी पंचायत तथा प्रखंड में कार्यपालक सहायक के खाली पदों पर नियोजन की कार्रवाई तत्काल शुरू करने का निर्देश दिया है.

आपको बता दें बिहार में पंचायती राज विभाग के निदेशक चंद्रशेखऱ सिंह ने सभी जिला पदाधिकारी को पत्र लिखा है. इस पत्र में कहा गया है कि 18 सितंबर 2020 को बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी की शासी परिषद की 27 वीं बैठक हुई थी.

आप इसे भी पढ़ें – नीतीश सीएम आवास में दी छठ की पहली अर्ध्य

मीटिंग में जिलों में कार्यपालक सहायक का पैनल नहीं रहने की स्थिति में अंतरिम व्यवस्था के रूप में कार्य हित में संबंधित प्रमंडल के निकटवर्ती जिले के पैनल से कार्यपालक सहायक का नियोजन किए जाने का प्रस्ताव को अनुमोदित किया गया था. लिहाजा ग्राम पंचायत कार्यपालक सहायक और प्रखंड कार्यपालक सहायक के रिक्त स्थानों पर नियोजन की प्रक्रिया पूरी करने को लेकर कार्रवाई शुरू करें. सरकार के इस आदेश से अब पंचायतों में कार्यपालक सहायक के पदों पर नियोजन हो सकेगा.

बताते चलें कि इस बार के विधानसभा चुनाव में रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा बन गया था. विपक्ष के चुनावी अभियान का पूरा दारोमदार रोजगार पर ही था. महागठबंधन ने पहली कैबिनेट में ही 10 लाख सरकारी नौकरी की प्रक्रिया शुरु करने का वायदा किया था. उसके बाद भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में 19 लाख रोजगार देने का वायदा किया. नई सरकार के इस आदेश को उसी से जोड़कर देखा जा रहा है.