बाढ़ : व्यवसायियों से रंगदारी मांगने के मामलों का उद्भेदन, तीन गिरफ्तार

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| बाढ़ पुलिस ने रंगदारी के दो मामलों का उद्भेदन करते हुए तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया है. रविवार को आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में बाढ़ के एएसपी अरविन्द प्रताप सिंह (Arvind Pratap Sing, IPS, Barh ASP) ने इसकी जानकारी दी.

एएसपी ने बताया कि रंगदारी मांगने की शिकायतें पिछले कुछ दिनों से शहर के व्यवसायी वर्ग की ओर से उनके पास आ रही थी. इसी कड़ी में रंगदारी के दो मामले दो अलग-अलग थानों, बाढ़ एवं सकसोहरा में दर्ज हुए.

पहला मामला 18 जनवरी का है जब लच्छुचक, सकसोहरा थाना के रहने वाले कौशल कुमार नामक एक गिट्टी-बालू व्यवसायी से अपराधियों द्वारा मोबाइल पर फोन करके 50 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई. कौशल से अज्ञात अपराधियों ने इतने पैसे प्रोटेक्शन टैक्स (Protection Money) के रूप में मांगे. पैसे नहों देने पर अपराधियों ने कौशल को देख लेने की धमकी दी. इस बावत सकसोहरा थाना में 19 जनवरी को कांड सं0-05/22 धारा-384/385 भादवि दर्ज किया गया.

कौशल कुमार ने पुलिस में को दिए गए अपनी शिकायत में लिखा कि 18 जनवरी को करीब 05:26 बजे अपराह्न में ये अपने ग्राम-लच्छुचक रोड पर स्थित दूकान में बैठे थे. उसी समय इनके मोबाईल पर एक अज्ञात व्यक्ति फोन कर बोला कि Protection Money रंगदारी के रूप में पचास लाख रूपया देना होगा. जब कौशल ने उस व्यक्ति से उसके बारे में पूछा तो उधर से सीधा जबाब दिया गया कि पैसा तैयार रखो नहीं तो परसो दिन में तुम्हें देख लेगे. कौशल ने अपने मोबाइल पर इस बातचीत को रिकार्ड कर लिया. इस रिकॉर्डिंग को उसने पुलिस को सौंप दी.

यह भी पढ़ें| कंधे पर पत्‍नी का श’व ले चलता बना, मामला संदिग्ध ?

वहीं दूसरा मामला 19 जनवरी का है जब राजू कुमार नामक एक गल्ला व्यवसायी को मोबाइल पर फोन करके पाँच लाख रूपया रंगदारी मांगी गई. इसपर राजू ने बाढ़ थाना में 20 जनवरी को लिखित शिकायत की, जिसके बाद बाढ़ कांड सं0-37/22 धारा-384/385 भादवि दर्ज किया गया.

राजू के अनुसार, 19 जनवरी को वह दुकान पर बेटे अंशु के साथ बैठे थे. इसी दौरान अंशु के मोबाइल पर अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया और अपने पिता से बात करवाने को कहा. जब राजू कुमार ने उस व्यक्ति से बात की. राजू से दूसरी तरफ से 5 लाख रुपये की मांग की गई. 20 जनवरी को शाम में 6.38 बजे फिर से अंशु के मोबाइल पर फोन आया और कहा गया कि पैसे का इंतजाम कर लो और जहां बताया जाए वहाँ पैसा पहुँचा देना, नहीं तो तुम समझ लेना.

बाढ़ पुलिस कप्तान ने मीडिया को बताया कि दोनों कांडों के दर्ज होने के बाद एक टीम का गठन किया गया. इस टीम में मोकामा के पुoनिo-सह-थानाध्यक्ष (प्रभारी थानाध्यक्ष, पु0अ0नि0) अनिरूद्ध कुमार, सकसोहरा के थानाध्यक्ष, पंडारक के थानाध्यक्ष, और अनुसंधानकर्ता बलवीर कुमार सिंह शामिल थे.

इस टीम के द्वारा आसूचना संकलन किया गया और वैज्ञानिक अनुसंधान / गुप्तचरो के आधार पर इस कांड में संलिप्त तीन अभियुक्तों – अभिषेक कुमार उर्फ गोलू कुमार (22 वर्ष), सुजीत कुमार (21 वर्ष) एवं रूतेन्द्र कुमार उर्फ गोरेलाल (22 वर्ष) को गिरफ्तार किया गया.

एएसपी ने बताया कि अभी एक और अपराधी शामिल है जो फरार है और उसकी गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने रंगदारी की घटना में उपयोग किए गए 5 मोबाइल, जिसमें एक उषाश्रीराम कम्पनी का मोबाइल है, के साथ एक यामहा कम्पनी का FZ मोटरसाईकिल बरामद किया है.